भारत को हेडली के बयान का इंतज़ार

डेविड हेडली
Image caption गुरुवार को शिकागो में जज के सामने पेश होंगे हेडली

भारत के विदेश मंत्री एसएम कृष्णा ने गुरुवार को कहा कि नवंबर, 2008 में मुंबई हमलों के अभियुक्त पाकिस्तानी मूल के अमरीकी नागरिक डेविड कोलमैन हेडली के बयान का भारत इंतज़ार कर रहा है.

माना जा रहा है कि मौत की सज़ा से बचने के लिए हेडली शिकागो की एक अदालत में अपना अपराध स्वीकार कर सकते हैं.

भारतीय विदेश मंत्री ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, ''हम हेडली के बयान का इंतजार कर रहे हैं.''

उन्होंने कहा कि सरकार इस मामले पर नज़र रखे हुए है.

डेविड हेडली के वकील के मुताबिक़ उनके मुवक्किल आतंकवादी गतिविधियों के मामलों में अपना दोष स्वीकार कर सकते हैं.

हालाँकि कुछ महीने पहले डेविड हेडली ने शिकागो के फ़ेडेरल कोर्ट में अपनी पेशी के दौरान मुंबई हमले समेत आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप से साफ़ इनकार कर दिया था.

माना जा रहा है कि डेविड हेडली गुरुवार को जज के सामने अपना दोष स्वीकार करेंगे.

हालाँकि ये अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है कि हेडली किन आरोपों में अपना दोष स्वीकार करने को तैयार हुए हैं और क्या वे सज़ा में नरमी बरते जाने के बदले सरकारी वकीलों से सहयोग करेंगे या नहीं.

संदिग्ध भूमिका

इस साल जनवरी में अदालत में अपनी पेशी के दौरान डेविड हेडली ने 12 मामलों में अपने को निर्दोष बताया था.

इन मामलों में छह ऐसे हैं, जिनमें उन पर हत्या की साज़िश रचने, मुंबई हमलों में भूमिका और आतंवादी संगठन की सहायता करने का आरोप है.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक़ हेडली के वकील जॉन थिएस ने कहा कि उनके मुवक्किल अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं और गुरुवार को इसका नतीजा दिख जाएगा. लेकिन उन्होंने इस बारे में और कुछ नहीं कहा.

डेविड हेडली पर आरोप है कि उन्होंने मुंबई हमलों के स्थान तय करने में मदद की थी. 26 नवंबर,2008 को मुंबई में हुए हमलों में 174 लोग मारे गए थे.

गंभीर आरोप

इन हमलों के दौरान ताजमहल होटल से लेकर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के भीड़-भाड़ वाले इलाक़ों को निशाना बनाया गया था.

Image caption हेडली पर मुंबई हमलों की साज़िश में शामिल होने का आरोप है

भारत सरकार इन हमलों के लिए चरमपंथी संगठन लश्कर-ए-तैबा को ज़िम्मेदार मानती है.

पिछले साल अक्तूबर में डेविड हेडली को गिरफ़्तार किया गया था. हेडली पर डेनमार्क के एक अख़बार पर हमला करने की साज़िश रचने का भी आरोप है.

जाइलैंड्स पोस्टेन नाम के इस अख़बार ने पैगंबर मोहम्मद के कार्टून छापे थे.

इस मामले में डेविड हेडली के साथ तीन अन्य लोगों पर भी मुक़दमा चल रहा है. इनमें शिकागो के एक व्यावसायी तहव्वुर हुसैन राना भी हैं, जिन्होंने इन दोनों मामलों में अपने को निर्दोष बताया था.

संबंधित समाचार