मैं मुंबई हमलों में शामिल था: हेडली

डेविड हेडली
Image caption गुरुवार को शिकागो में जज के सामने हेडली को पेश किया गया

पाकिस्तानी मूल के अमरीकी नागरिक डेविड कौलमेन हेडली ने गुनाह कबूल करते हुए कहा है कि वो मुंबई हमले की साजिश में शामिल थे. उन्होंने ये बयान शिकागो की एक अदालत में दिया है.

हेडली ने अपने ऊपर लगाए गए सभी 12 आरापों को कबूल कर लिया.

एक समझौते के तहत गुनाह कबूल करने के बदले अमरीकी अभियोजन पक्ष उन्हें मौत की सज़ा देने की माँग नहीं करेगा.

हालांकि उन्होंने इस बात पर सहमति जताई है कि विदेश में चल रही किसी भी न्यायिक प्रक्रिया में वो अमरीका में रहते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और अन्य माध्यमों से मदद करेंगे.

इसका आशय ये है कि उनका भारत प्रत्यर्पण नहीं किया जा सकेगा लेकिन उनसे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पूछताछ की जा सकेगी.

हेडली ने अपने ऊपर लगे सभी 12 आरोपों को स्वीकार कर लिया इसलिए उन पर अधिकतम सज़ा उम्र कैद की हो सकती है.

अभूतपूर्व सुरक्षा इंतज़ाम

नारंगी जंपसूट पहने और बेड़ियां डाले हेडली को अभूतपूर्व सुरक्षा इंतज़ाम के बीच अदालत में पेश किया गया.

अदालत के आसपास सुरक्षा बलों के साथ ही खोजी कुत्तों की तैनाती भी की गई थी.

हालाँकि कुछ महीने पहले डेविड हेडली ने शिकागो के फ़ेडेरल कोर्ट में अपनी पेशी के दौरान मुंबई हमले समेत आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप से साफ़ इनकार कर दिया था.

इस साल जनवरी में अदालत में अपनी पेशी के दौरान डेविड हेडली ने 12 मामलों में अपने को निर्दोष बताया था.

इन मामलों में छह ऐसे हैं, जिनमें उन पर हत्या की साज़िश रचने, मुंबई हमलों में भूमिका और आतंकवादी संगठन की सहायता करने का आरोप है.

डेविड हेडली पर आरोप है कि उन्होंने मुंबई हमलों के स्थान तय करने में मदद की थी. 26 नवंबर,2008 को मुंबई में हुए हमलों में 174 लोग मारे गए थे.

एटोर्नी जनरल एरिक होल्डर ने कहा,''गुनाह कबूल करना मुंबई हमलों में जान गंवाने वाले लोगों को न्याय दिलाने की हमारी कोशिशों की दिशा में महत्वपूर्ण क़दम है.''

गंभीर आरोप

इन हमलों के दौरान ताजमहल होटल से लेकर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के भीड़-भाड़ वाले इलाक़ों को निशाना बनाया गया था.

Image caption हेडली पर मुंबई हमलों की साज़िश में शामिल होने का आरोप है

भारत सरकार इन हमलों के लिए चरमपंथी संगठन लश्कर-ए-तैबा को ज़िम्मेदार मानती है.

पिछले साल अक्तूबर में डेविड हेडली को गिरफ़्तार किया गया था. हेडली पर डेनमार्क के एक अख़बार पर हमला करने की साज़िश रचने का भी आरोप है.

जाइलैंड्स पोस्टेन नाम के इस अख़बार ने पैगंबर मोहम्मद के कार्टून छापे थे.

इस मामले में डेविड हेडली के साथ तीन अन्य लोगों पर भी मुक़दमा चल रहा है.

इनमें शिकागो के एक व्यावसायी तहव्वुर हुसैन राना भी हैं.

तहव्वुर राणा पर पर भी मुंबई हमलों में मदद करने, डेनमार्क के षड्यंत्र में मदद करने और लश्कर की मदद करने के आरोप लगे थे पर उन्होंने भी इन सभी आरोपो से इनकार किया था.

वो शिकागो की एक जेल में है और अदालती कार्यवाही का इंतज़ार कर रहे है.

संबंधित समाचार