तोंद कम कीजिए नहीं तो बॉय-बॉय

  • 23 मार्च 2010
दक्षिण अफ्रीकी पुलिस
Image caption माना जा रहा है कि मोटापे की वजह से दक्षिण अफ्रीकी पुलिस अपराध नहीं रोक पा रही है

पुलिस की नौकरी करनी है तो फिट हो जाइए नहीं तो नौकरी से हाथ भी धोना पड़ सकता है.

दक्षिण अफ्रीका में जून 2010 में फुटबॉल का विश्वकप शुरु होने वाला है और फुटबॉल प्रेमियों की सुरक्षा को लेकर दक्षिण अफ्रीकी पुलिस की सक्षमता पर सवाल उठ रहे हैं.

इसको देखते हुए वहां की पुलिस को सख्त निर्देश मिला है कि वो मोटापा कम करें और चुस्त-दुरुस्त हो जाएँ. इसके लिए विशेष फिटनेस कार्यक्रम चलाया जा रहा है.

पुलिस कमिश्नर भेकी सेले ने कहा कि अब पुलिस में भर्ती हो रहे नए लोगों को एक ही साइज़ का यूनिफॉर्म पूरे करियर में पहनना होगा.

अगर कोई पुलिस अधिकारी बड़े साइज़ की माँग करता है तो उन्हें फिट होने के लिए एक साल की छुट्टी दी जाएगी या उन्हें नौकरी से निकाल दिया जाएगा.

मार्च की शुरुआत में पोर्ट एलिज़ाबेथ के पुलिस अधिकारियों पर एक सर्वेक्षण किया गया.

इस सर्वेक्षण में पाया गया कि आधे से अधिक अधिकारी मोटापे का शिकार हैं और इस वजह से वे सही तरीक़े से काम नहीं कर पा रहे हैं.

पुलिस कमिश्नर भेकी सेले का कहना है,''पुलिस अधिकारियों को ऐसे-वैसे तरीक़े से नहीं बल्कि सिर उठाकर, छाती फुलाकर और पेट अंदर करके चलने में सक्षम होना चाहिए.''

दक्षिण अफ्रीका में विश्व में सबसे ज़्यादा अपराध होते है और इसके लिए पुलिसवालों के मोटापे को भी एक वजह बताया जा रहा है.

पुलिसवालों के लिए फ़िटनेस कार्यक्रम एक अच्छी शुरुआत माना जा रहा है.

पूर्व मुक्केबाज चैम्पियन जैक मटाला इस फ़िटनेस कार्यक्रम को बढ़ावा दे रहे हैं.

उनका कहना है, ''ये लोग दौड़ लगाएंगे और चुस्त-दुरुस्त होकर देश को बेहतर बनाएँगे.''

इस फ़िटनेस कार्यक्रम के समर्थन में फ़ुटबॉल खिलाड़ी भी आगे आए हैं.

संबंधित समाचार