रंगभेद समर्थक नेता की हुई हत्या

  • 4 अप्रैल 2010
टेरेब्लांच
Image caption टेरेब्लांच की पार्टी ने रंगभेद ख़त्म करने का विरोध किया था.

दक्षिण अफ्रीका के नस्लभेदी नेता यूजीन टेरेब्लांच की उनके फार्म में ही हत्या कर दी गई है.

टेरेब्लांच 69 वर्ष के थे और उन्हें पीट पीट कर मार डाला गया है. स्थानीय मीडिया के अनुसार मज़दूरों के साथ मज़दूरी की रकम को लेकर विवाद था.

इस मामले में दो लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

राष्ट्रपति जैकब जूमा ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है और कहा है कि टेरेब्लांच की मौत को लेकर नस्ली घृणा को फैलने से रोका जाए.

अस्सी के दशक में दक्षिण अफ्रीका में श्वेत लोगों के लिए अलग देश की मांग करने के कारण टेरेब्लांच विवादों में रहे थे.

टेरेब्लांच उन गिने चुने लोगों में से थे जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद नीति ख़त्म करने का विरोध किया था.

एएफपी संवाद समिति ने पुलिस प्रवक्ता के हवाले से कहा, ‘‘टेरेब्लांच का शव बिस्तर पर पड़ा मिला.शव के सिर और चेहरे पर चोटें थीं.’’

रिपोर्टों में कहा गया है कि दो मज़दूरों के साथ मज़दूरी को लेकर उनका विवाद था. इन दोनों मज़दूरों पर हत्या का आरोप लगाया गया है.

रायटर्स संवाद समिति ने टेरेब्लांच के एक मित्र के हवाले से कहा है कि टेरेब्लांच को सोते हुए मौत के घाट उतार दिया गया है.

राष्ट्रपति जैकब जूमा ने इस घटना की कड़ी निंदा की है.

जोहान्सबर्ग से बीबीसी संवाददाता कैरन एलेन का कहना है कि ये घटना ऐसे समय में हुई है जब देश में अपराधों की संख्या बढ़ी है और विपक्षी दल, अफ़्रीकी नेशनल कांग्रेस के कुछ सदस्यों पर नस्लभेदी रवैय्या अपनाने का आरोप लगा रहे हैं.

इस घटना के बाद दक्षिण अफ्रीका में रहने वाले श्वेत लोगों में भय का माहौल बनने की संभावना भी जताई जा रही है.

टेरेब्लांच की पार्टी अफ्रीकानेर रेसिस्टेंस मूवमेंट के प्रवक्ता का कहना है कि एएनसी की युवा शाखा ने नस्लभेदी समय के गाने हाल में गाए हैं जो उनकी मानसिकता दिखाता है और इस हत्या को उससे जोड़ कर देखना चाहिए.

संबंधित समाचार