पोलैंड में मातम, सात दिनों का शोक

  • 10 अप्रैल 2010

विमान दुर्घटना में पोलैंड के राष्ट्रपति के मारे जाने के बाद देशभर में मातम का माहौल है. राजधानी वारसा में हज़ारों लोग राष्ट्रपति भवन के बाहर इकट्ठा हैं.

पोलैंड में सात दिनों के शोक की घोषणा की गई है. पश्चिमी रूस में हुई इस विमान दुर्घटना में पोलैंड के राष्ट्रपति लेक केजिंस्की समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मारे गए हैं.

राष्ट्रपति केजिंस्की के अलावा इस हादसे में उनकी पत्नी, सेना प्रमुख और पोलैंड के सेंट्रल बैंक के प्रमुख भी मारे गए हैं. विमान में 80 से ज़्यादा लोग सवार थे.

राजधानी वारसा में राष्ट्रपति भवन के बाहर शोक संतप्त लोगों का ताँता लगा हुआ है. कई लोगों को तो अब भी ये भरोसा ही नहीं हो रहा है कि देश को एक दिन में इतना बड़ा झटका लगा है.

'सबसे दुखद घटना'

कई लोगों की आँखों में आँसू हैं, तो कई ख़ामोशी से राष्ट्रपति भवन के बाहर श्रद्धा-सुमन अर्पित कर रहे हैं.

Image caption विमान दुर्घटना में 80 से ज़्यादा लोग मारे गए हैं

वारसा में मौजूद बीबीसी संवाददाता का कहना है कि राष्ट्रपति भवन को जाने वाली प्रमुख सड़क पूरी तरह भरी हुई है.

पोलैंड के प्रधानमंत्री डोनाल्ड टस्क ने इसे देश के हालिया इतिहास की सबसे बड़ी दुखद घटना की संज्ञा दी है.

पश्चिमी रूस में यह विमान उस समय दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जब कोहरे के कारण विमान ने स्मोलेन्स्क हवाई अड्डे पर उतरने की कोशिश की.

राष्ट्रपति केजिंस्की एक प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे थे, जो कटिन नरसंहार की 70वीं बरसी पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहा था.

इस नरसंहार में सोवियत सीक्रेट पुलिस ने पोलैंड के हज़ारों लोगों की हत्या कर दी थी.

संबंधित समाचार