फोटो लगाने पर हंगामा

  • 12 अप्रैल 2010
योगर्ट
Image caption कानूनी कार्यवाही के बाद भी लिंडाल्स की वेबसाइट पर यह तस्वीर बनी हुई है

आप में से कई लोग विज्ञापनों में अपनी तस्वीर देखने के लिए लालायित हो सकते हैं. लेकिन जब तस्वीर छपने का मामला दुश्मन देश से जुड़ा हो, तो भी क्या ऐसी ही खुशी होती है?

स्वीडिश मीडिया की ख़बरों के मुताबिक ग्रीस के एक नागरिक ने एक डेयरी कंपनी पर 69 लाख डॉलर हर्जाने के लिए मुक़दमा दायर कर दिया.

वजह डेयरी कंपनी ने दुश्मन देश तुर्की शैली में तैयार दही (योगर्ट) के डिब्बे पर उसकी तस्वीर का इस्तेमाल कर दिया.

इस दही को डेयरी कंपनी लिंडाल्स ने तैयार किया है.

स्टॉकहोम में रह रहे एक दोस्त ने उसे जानकारी दी कि मूंछों वाले उसके चेहरे को तुर्की शैली में तैयार दही के कंटेनरों पर दिखाया जा रहा है.

डेयरी कंपनी ने कहा कि इस तस्वीर को अच्छी नीयत के साथ एक फोटो लाइब्रेरी से खरीदा गया था.

कंपनी के मुख्य कार्यकारी एंडर्स लिंडाल्स ने बताया कि वे उस समय सदमे में आ गए जब ग्रीस के एक नागरिक ने 40 पन्नों में शिकायत दर्ज की.

तस्वीर के इस्तेमाल से धोखा

इस व्यक्ति का कहना है कि कंपनी ने तस्वीर के इस्तेमाल से धोखा दिया है क्योंकि उसका तुर्की से कोई संबंध नहीं है.

एंडर्स लिंडाल्स ने कहा, "हमने इस तस्वीर को एक फोटो एजेंसी से यह सोचकर ख़रीदा कि सबकुछ ठीक-ठाक रहे."

क़ानूनी कार्रवाई के बावजूद लिंडाल्स की वेबसाइट पर अब भी यह तस्वीर मौजूद है.

ग्रीस और तुर्की के बीच संबंधों में लंबे समय से तनाव रहा है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार