फ़्रांस में बुर्क़े पर रोक लगेगी

Image caption सर से पांव तक ढकनेवाले बुर्क़े पर प्रतिबंध लगाने के लिए क़ानून बनेगा.

फ्रांस की सरकार मुसलमान औरतों को बुर्क़ा पहने से रोकने के लिए अगले महीने से एक क़ानून लाने की योजना बना रही है.

ये घोषणा कही महीनों की बहस के बाद की गई है.

ग़ौरतलब है कि सरकार के क़ानूनी सलाहकार ने कहा है इस तरह का प्रतिबंध अदालत में क़ानूनी चुनौती के सामने नहीं टिक पाएगा.

सरकार ने इस सलाह को नज़रअंदाज़ करने का फ़ैसला किया है.

राष्ट्रपति निकोलस सरकोज़ी का कहना है कि बुर्क़ा मुसलमान महिला की गरिमा और फ़्रांसीसी समाज की परिकल्पना की तौहीन करता है.

राष्ट्रपति सरकोज़ी के नेतृत्व में हुई कैबिनेट बैठक में ये तय हुआ कि एक ऐसा क़ानून लाया जाए सार्वजनिक स्थलों पर बुर्क़ा पहनने पर पूरी तरह से रोक लगा दे.

Image caption राष्ट्रपति सरकोज़ी बुर्क़े के ख़िलाफ़ हैं.

ये विधेयक मई के महीने में लाया जाएगा और जुलाई तक इसके क़ानून बन जाने की संभावना है.

पेरिस से बीबीसी संवाददाता का कहना है कि सरकार का ये कड़ा रूख़ आम जनता में लोकप्रिय होगा. एक सर्वेक्षण में 57 प्रतिशत लोग बुर्क़ा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के हक़ में थे.

लेकिन सरकार के अपने आंकड़ों के अनुसार केवस 2,000 ऐसी महिलाएं हैं जो सर से पैर तक ढकनेवाली बुर्क़ा पहनती हैं और जब सरकार के अपने सलाहकार ही आश्वस्त नहीं हैं कि ये क़ानून अदालती चुनौतियों के सामने ठहर पाएगा, तो फिर राष्ट्रीय या यूरोपीय अदालत में इसे आसानी से खारिज किया जा सकता है.

संबंधित समाचार