इराक़ में कई विस्फोट, 58 मारे गए

  • 23 अप्रैल 2010
विस्फोट के बाद का एक दृश्य
Image caption इराक़ में पिछले दिनों हमलों में एक बार फिर से बढ़ोत्तरी हुई है

इराक़ में एक के बाद एक हुए कई बम विस्फोटों में कम से कम 58 लोग मारे गए हैं और क़रीब सौ लोग घायल हुए हैं.

अधिकारियों का कहना है कि सबसे अधिक हमले बग़दाद के बाहरी हिस्से में शिया बहुल सद्र शहर में हुए हैं. इनमें से एक बम शिया मौलवी मुक़्तदा सद्र के कार्यालय के पास भी फटा है.

सद्र में कम से कम 21 लोगों की जानें गई हैं.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने इन हमलों के लिए अल-क़ायदा को ज़िम्मेदार ठहराया है, जो पहले भी शिया बहुल इलाक़े को निशाना बनाता रहा है.

उनका कहना है कि अल-क़ायदा ने पिछले हफ़्ते अपने तीन बड़े नेताओं के मारे जाने का बदला लेने के लिए यह हमला किया है.

विस्फोटों का सिलसिला

बग़दाद शहर में शुक्रवार को कम से कम छह बम फटे. इनमें से तीन शिया बहुल सद्र में फटे जबकि अन्य का निशाना मस्जिद और बाज़ार थे.

Image caption प्रधानमंत्री नूर अल मलिकी ने अल-क़ायदा नेताओं के मारे जाने की पुष्टि ख़ुद की थी

आठ लोगों की मौत नमाज़ के दौरान दक्षिणी बग़दाद में हुई है.

इससे पहले सुबह सड़क के किनारे हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में सात लोगों की मौत हो गई.

अनबार प्रांत में हुए इन विस्फोटों में मारे गए लोगों में एक सैनिक भी है.

हिंसा का ये नया दौर ऐसे समय में शुरु हुआ है जब राजनीतिज्ञ गठबंधन की नई सरकार बनाने के लिए गठबंधन तैयार करने की कोशिशों में लगे हुए हैं.

इसके अलावा पिछले हफ़्ते ही इराक़ी सुरक्षा बलों ने अलक़ायदा के तीन बड़े नेताओं को मारा है.

सात साल पहले इराक़ में अमरीकी हमले के बाद से होने वाले इस तरह की हिंसक घटनाओं के पीछे अलक़ायदा का ही हाथ माना जाता रहा है.

संबंधित समाचार