कीनिया के फ़ुटबॉल प्रेमी नाराज़

  • 26 अप्रैल 2010
फ़ीफ़ा
Image caption कीनिया में फ़ुलबॉल काफ़ी लोकप्रिय है

कीनिया में फ़ुटबॉल विश्व कप से पहले वीडियो हॉल पर पाबंदी से फ़ुटबॉल प्रेमी काफ़ी गु़स्से में हैं.

कीनिया में फ़ुटबॉल काफ़ी लोकप्रिय है और लोग फ़ुटबॉल के मैचों का सीधा प्रसारण सैटेलाइट टेलीविज़न के माध्यम से वीडियो हॉल में देखते हैं, क्योंकि वे इस तकनीक को अपने घरों में लगाने की आर्थिक क्षमता नहीं रखते हैं.

कीनिया में मुसलमानों की सर्वोच्च परिषद के अध्यक्ष शेख ख़ालिफ़ मोहम्मद ने सेटेलाइट टेलीविज़न के प्रसारण पर पाबंदी लगा दी है, क्योंकि उनका कहना है कि सेटेलाइट टेलीविज़न का बच्चों पर बुरा असर पड़ रहा है.

उन्होंने मंडेरा शहर में वीडियो हॉल को बंद करा दिए हैं और घोषणा की है कि ये वीडियो हॉल विश्व कप के दौरान भी नहीं खोले जाएंगे.

फ़ुटबॉल विश्व कप के शुरू होने में दो महीने से कम का समय रह गया है.

मैच देखेंगे

मंडेरा में बीबीसी संवाददाता का कहना है कि उनसे अनेक फ़ुटबॉल प्रेमियों ने बात की है, उनका कहना है कि वो मैचों का सीधा प्रसारण देखने के लिए अपनी ओर से कुछ भी करेंगे.

कुछ फ़ुटबॉल प्रमियों का कहना है कि वे मैच देखने के लिए मगरमच्छ से भरी नदी दावा को पार कर पड़ोसी देश इथोपिया जाएंगे.

एक व्यक्ति ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, "अगर सर्वोच्च परिषद के मुख्य धर्म गुरू ने प्रतिबंध नहीं हटाया तो शुरु से आख़िर तक का पूरा मैच देखने के लिए मैं कहीं भी जाऊंगा."

शेख मोहम्मद का कहना है कि वीडियो हॉल के कारण स्थानीय बच्चों में स्कूल नहीं जाने को बढ़ावा दिया है.

उन्होंने बीबीसी को बताया, "अगर कोई व्यक्ति अपने घर पर फ़ुटबॉल मैच देखना चाहता है तो इसमें कोई परेशानी नहीं है. लेकिन सार्वजनिक तौर पर इसकी इजाज़त नहीं होगी."

धर्म गुरु का कहना है कि दस वीडियो हॉल के मालिकों से सैटेलाइट टेलीविज़न के उपकरण ज़ब्त कर लिए गए हैं और उन्हें दूसरे कारोबार शुरु करने के लिए मुआवज़ा दिया जाएगा.