तेल के तट तक पहुँचने की जाँच

  • 30 अप्रैल 2010
मैक्सिको की खाड़ी
Image caption कुछ इस तरह दिखाई दे रही है समुद्र की सतह

अमरीकी कोस्ट गार्ड के अधिकारी इन रिपोर्टों की जाँच कर रहे हैं कि मैक्सिको की खा़डी में रिस रहा तेल अब अमरीका के तटवर्ती इलाक़ों तक पहुँच गया है.

अधिकारियों ने कहा है कि उन्होंने जाँचकर्ताओं से कहा है कि वे इस बात की जाँच करें कि क्या लुइज़ियाना के तट तक तेल पहुँच गया है.

पिछले हफ़्ते तेल कंपनी बीपी के एक तेल कुँए में आग लगने के बाद विस्फोट हुआ का. इसके बाद से वहाँ हर दिन कोई पाँच हज़ार बैरल तेल का रिसाव हो रहा है.

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि वे इस स्थिति से निपटने के लिए 'हर संभव संसाधन' का उपयोग करेगी.

इस रिसाव की वजह से पर्यावरण को भारी नुक़सान की आशंका जताई गई है. इससे निपटने के लिए अमरीकी नौसेना को तैनात किया गया है.

आपात स्थिति की घोषणा

लुइज़ियाना प्रांत के गवर्नर बॉबी जिंदल ने वहाँ आपात स्थिति की घोषणा कर दी है.

उन्होंने रिस रहे तेल की सफ़ाई के लिए केंद्रीय कोष से धनराशि की माँग की है जिससे कि वहाँ छह हज़ार नेशनल गार्ड की तैनाती की जा सके.

लुइज़ियाना के तटवर्ती इलाक़े झींगा मछलियों और सीपों के लिए जाने जाते हैं. कहा जा रहा है कि तेल के रिसाव से इसे बहुत नुक़सान होने की आशंका है.

वहाँ मछुआरों को अनुमति दी गई है कि तेल की वजह से मछलियों को नुक़सान पहुँचने से पहले वे जाल बिछाकर जितना हो सके मछलियाँ पकड़ लें.

लुइज़ियाना के अलावा मिसिसिप्पीस, अलाबामा और फ़्लोरिडा प्रांतों के तटवर्ती इलाक़ों में भी मछलीपालन को नुक़सान से बचाने की कोशिशें शुरु कर दी गई हैं.

नेशनल ओसियानिक एंड एटमॉस्फ़ेरिक एडमिनिस्ट्रेशन के डेविड कैनेडी ने कहा है, "यह बहुत बड़ी घटना है."

समाचार एजेंसी एपी से उन्होंने कहा है कि इसकी सफ़ाई बहुत विशाल पैमाने पर करनी होगी.

भारी नुक़सान

20 अप्रैल को तेल के कुँए में हुए विस्फोट के बाद से 11 कर्मचारी लापता हैं.

अमरीकी कोस्ट गार्ड ने पहले कहा था कि वहाँ इस समय पाँच हज़ार बैरल तेल का प्रतिदिन रिसाव हो रहा है. यह पहले लगाए गए अनुमान से पाँच गुना अधिक है.

तेल कंपनी बीपी में उत्पादन के लिए ज़िम्मेदार अधिकारी डाउग सटल्स ने कहा है कि यह जानने के लिए कि कितना तेल रिस रहा है रिमोट से नियंत्रित होने वाले उपकरण से जाँचने की कोशिश की जा रही है.

उनका कहना है, "इसका अनुमान लगाना बहुत कठिन है."

उनका कहना है, "गहराई में हम यह माप नहीं सकते कि कितना तेल निकल रहा है, हम सिर्फ़ देख सकते हैं. जो तस्वीर से दिख रहा है उसमें तो कोई परिवर्तन नहीं दिखता लेकिन जो सतह पर दिख रहा है उससे लगता है कि रिसाव बढ़ा है."

स्थानीय निवासियों का कहना है कि तेल की गंध दिन प्रतिदिन तेज़ होती जा रही है.

संबंधित समाचार