पिकासो की पेटिंग चोरी

  • 20 मई 2010
पेरिस का म्यूज़ियम
Image caption इसी म्यूज़ियम से बुधवार की रात पांच पेंटिंग्स चोरी हुई हैं

फ़्रांसीसी अधिकारियों ने कहा है कि पिकासो समेत कई महान कलाकारों की पांच कलाकृतियाँ पेरिस के मॉडर्न आर्ट म्यूज़िम से ग़ायब हो गई हैं.

कहा जाता है कि इन कृतियों की क़ीमत दस करोड़ यूरो के क़रीब होगी.

अधिकारियों का कहना है कि ये पेंटिंग बुधवार को रातों रात ग़ायब हो गई और गुरूवार को सुबह इसके ग़ायब होने की ख़बर मिली.

आइफ़ल टॉवर से सिइन नदी के पार म्यूज़ियम को जांच अधिकारियों ने घेरे में ले लिया है.

सेक्यूरिटी कैमरों की फ़ुटेज में रात के वक़्त खिड़की के रास्ते किसी को म्यूज़ियम में घुसते देखा जा रहा है.

फ़्रांस के उप-संस्कृति सचिव क्रिस्टोफ़ जेरार्ड ने पेरिस टाउन हॉल से संवाददाताओं से बातचीत में कि यह गंभीर अपराध है.

उन्होंने कहा यह काम एक या एक से ज़्यादा लोगों का है जो ज़ाहिर है काफ़ी संगठित हैं.

सुरक्षा को चकमा

जेरार्ड ने ये भी कहा कि जांच अधिकारी इस बात का पता चलाने की कोशिश कर रहे हैं कि चोर किस प्रकार म्यूज़ियम के सुरक्षा इंतज़ाम और सुरक्षाकर्मियों की आँख में धूल झोंक गए.

उन्होंने चोरी की गई पेटिंग्स की क़ीमत 10 करोड़ यूरो के क़रीब बताई. इससे पहले इनकी क़ीमत 50 करोड़ यूरो तक आंकी गई थी.

ग़ायब पेंटिंग्स में पिकासो की मशहूर पेंटिग हरी पत्तियों के साथ फ़ाख़्ता (1912), हेनरी मेटिसे की पैस्टोरल (1905), जॉर्ज्स ब्राक़ की इस्टेक के नज़दीक ज़ैतून का पेड़, अमिदेव मोदिग्लियानी की एक महिला पंखे के साथ और फ़र्नान्ड लेजर झूमर के साथ रुकी हुई ज़िंदगी शामिल हैं.

म्यूज़ियम के अधिकारियों को चोरी का पता उस समय लगा जब उन्होंने गुरुवार को टूटी हुई खिड़की देखी.

चोरों ने पेटिंग तक पहुंचने के लिए पेडलॉक काटे थे.बीबीसी के डेविड चेज़ान का कहना है कि ये पता चलाना काफ़ी ज़रूरी है कि आख़िर सुरक्षा सिस्टम ने म्यूज़ियम कर्मचारियों को पहले क्यों नहीं चौंकाया.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार