नग्न घुमक्कड़ ने जीता मुक़दमा

नग्न घुमक्कड़
Image caption एपनजे़ल प्रांत में पिछले साल नग्न होकर घूमने वालों के ख़िलाफ़ आदेश जारी किया गया था

स्विट्ज़रलैंड की एक अदालत ने नग्न होकर पहाड़ों पर घूमने वाले एक व्यक्ति के पक्ष में फ़ैसला दिया है.कोर्ट का कहना है कि नग्न होकर पर्वत पर चढ़ाई करना ‘अभद्र बर्ताव’ नहीं है.

यह मामला तब सामने आया था जब नग्न होकर घूम रहे इस व्यक्ति पर जुर्माना लगा दिया गया था और उसने इसके ख़िलाफ़ अपील दायर की थी.

लेकिन अभियोजन पक्ष ने कहा है कि इस फ़ैसले का मतलब ये नहीं होना चाहिए कि अब सबको नंगे होकर घूमने की अनुमति होगी.

कुछ समय पहले स्विट्ज़रलैंड के एपनज़ेल इलाक़े में नग्न घुमक्कड़ों पर हर्जाना लगाने का आदेश दिया गया था. उसके बाद से कोर्ट में ऐसा मामला था.

एपनज़ेल ऐसे लोगों के लिए एक लोकप्रिय केंद्र बन गया है जो बिना कपड़ों के पहाड़ों की चढ़ाई करना चाहते हैं. लेकिन स्थानीय लोग इससे ख़ुश नहीं हैं.

कुछ लोगों ने शिकायत की थी कि एक व्यक्ति आवाजाही वाले सार्वजनिक स्थल के सामने नग्न होकर घूम रहा था. इसके बाद उस पर 100 स्विस फ़्रैंक या 60 पाउंड का जुर्माना लगाया गया था.

जुर्माना नहीं देना होगा

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि उन्होंने इस व्यक्ति को बेसहारा लोगों के लिए बनाए गए ईसाई देखभाल केंद्र के बाहर भी देखा था.

लेकिन कोर्ट ने व्यक्ति पर से जुर्माना हटा दिया है. वेबसाइट स्विसइनफ़ो.सीएच के मुताबिक अदालती कार्यवाही से जुड़ी 870 फ़्रैंक की फ़ीस स्थानीय प्रशासन देगा.

स्विट्ज़रलैंड के अख़बार ले टेम्स के मुताबिक 47 वर्ष के इस शख़्स का कहना था कि वे दो वर्षों से नग्न होकर पहाड़ों पर घूमते रहे हैं और ज़्यादातार लोगों का रवैया मैत्रीपूर्ण रहा है.

स्विट्ज़रलैंड के संघीय क़ानून के मुताबिक सार्वजनिक तौर पर नग्न होकर घूमना अपराध नहीं है.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि एपनज़ेल काफ़ी रुढ़ीवादी इलाक़ा है जहाँ महिलाओं को वोट का अधिकार 1990 में दिया गया था.

स्थानीय अधिकारियों को उम्मीद थी कि नग्न घूमने वाले लोगों पर जुर्माना लगाने के बाद ऐसी घटनाएँ नहीं होंगी.

संबंधित समाचार