अलक़ायदा के नंबर तीन की मौत

  • 1 जून 2010
मुस्तफ़ा अबू अल-याज़िद या शेख़ सईद अल-मसरी
Image caption अभी यह नहीं पता चला है कि ये मौत कब हुई

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसियों का कहना है कि अफ़ग़ानिस्तान में अल-क़ायदा के तीसरे बड़े नेता की मौत हो गई है.

अधिकारियों का कहना है कि पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े में हुए मिसाइल हमले में मुस्तफ़ा अबू अल-याज़ीद की मौत हो गई है.

उन्हें शेख़ सईद अल-मसरी के नाम से भी जाना जाता रहा है.

एक इस्लामिक वेबसाइट ने कहा है कि मुस्तफ़ा अबू अल-यज़ीद अपनी पत्नी, तीन बच्चों और कुछ अन्य स्त्री, पुरुष और बच्चों के साथ मारे गए हैं.

इसके अलावा और कोई जानकारी नहीं दी गई है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार अमरीकी अधिकारियों ने अपना नाम प्रकाशित न करने की शर्ते पर कहा, "हमारे पास यह मानने के पुख़्ता कारण हैं कि अल-यज़ीद हाल ही में पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े में मारे गए हैं."

उनका कहना है, "आतंक के ख़िलाफ़ युद्ध में यह एक बड़ी जीत है."

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के क़बायली इलाक़े में अमरीकी चालक रहित विमान (ड्रोन) अक्सर मिसाइल हमले करते रहे हैं.

इन हमलों का निशाना अल-क़ायदा और तालेबान के लड़ाके रहे हैं.

रॉयटर्स ने सीआईए के निदेशक लियोन पैनेटा के हवाले से कहा है कि इन ड्रोन हमलों की वजह से ही ओसामा बिन लादेन और अल-क़ायदा के दूसरे शीर्ष नेताओं को छिपना पड़ा है जिसकी वजह से वे किसी बड़े हमले की योजना नहीं बना पा रहे हैं.

लेकिन व्हाइट हाउस ने पिछले ही हफ़्ते चेतावनी जारी की है कि पिछले साल क्रिसमस पर विमान में नाकाम हुए विस्फोट और बाद में न्यूयॉर्क में हुए विफल बम हमले के बाद नए आतंकवादी हमलों का ख़तरा है.

संबंधित समाचार