जापानी प्रधानमंत्री का इस्तीफ़ा

  • 2 जून 2010
यूकियो हातोयामा
Image caption हातोयामा ने जिस मुद्दे पर चुनाव जीता उसी से मुँह मोड़ लिया

जापान के प्रधानमंत्री यूकियो हातोयामा ने घोषणा की है कि वे इस्तीफ़ा देने जा रहे हैं.

हाल के हफ़्तों में हुए जनमत संग्रह में यूकियो हातोयामा की लोकप्रियता बहुत घटी है और उन पर पार्टी के भीतर से भी इस्तीफ़ा देने का बहुत दबाव था.

पार्टी को डर है कि हातोयामा की घटती लोकप्रियता की वजह से कहीं जुलाई में होने वाले उच्च सदन के चुनाव में पार्टी की हार न हो जाए.

यूकियो हातोयामा की लोकप्रियता उस समय घटनी शुरु हुई जब उन्होंने दक्षिणी द्वीप ओकिनावा से अमरीकी सैन्य अड्डे फ़ुतेन्मा को हटाने के अभियान से हाथ खींच लिया था. कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री हातोयामा ने यह फ़ैसला अमरीका के दबाव में लिया.

उल्लेखनीय है कि ओकिनावा स्थित अमरीकी सैन्य अड्डे फ़ुतेन्मा को जापान से हटा देने के चुनावी वादे के साथ प्रधानमंत्री यूकियो हातोयामा ने चुनाव जीता था.

लेकिन अमरीका के साथ हुए एक समझौते के मुतबाकि प्रधानमंत्रई अब फ़ुतेन्मा सैन्य अड्डे को ओकिनावा से हटाकर दक्षिण में अपेक्षाकृत कम आबादी वाले हेनोको ले जाने की घोषणा कर चुके हैं.

जापान में अमरीका की फौज का लगभग आधा हिस्सा फ़ुतेन्मा अड्डे पर मौजूद है.

जब प्रधानमंत्री हातोयामा ने यह घोषणा की थी तभी राजनीतिक विश्लेषकों ने कहा था कि उनके लिए यह फ़ैसला घातक साबित हो सकता है.

उस फ़ैसले के बाद से सत्तारूढ़ गठबंधन में भी दरारें पड़ गई थीं और प्रधानमंत्री की लोकप्रियता घटने लगी थी.

संबंधित समाचार