हार के बाद पोलित ब्यूरो की बैठक

  • 5 जून 2010
प्रकाश करात
Image caption सीपीएम के नेताओं का कहना था कि नगर निकाय चुनावों मे मिली हार पर आत्ममंथन इस बैठक में नहीं हो रहा.

दिल्ली में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के पोलित ब्यूरो की दो दिवसीय बैठक राज्य के मुख्यमंत्री की ग़ैर मौजूदगी में शुरू हो गई.

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री बुद्धदेब भट्टाचार्य बैठक में हिस्सा लेने नहीं आए.

पश्चिम बंगाल के नगर निकाय चुनावों में सीपीएम को तृणमूल कांग्रेस के हाथों मिली करारी हार के बाद ये बैठक बुलाई गई है.

मुख्यमंत्री की ग़ैरमौजूदगी के बारे में सीपीएम नेताओं का ये कहना था कि राज्य में चुनावों के बाद हिंसा की आशंकाओं को देखते हुए मुख्यमंत्री का वहां रहना ज़रूरी है.

सीपीएम के पोलित ब्यूरो के सदस्य सीताराम येचुरी ने मीडिया को बताया कि अगस्त में होने वाली पार्टी की केंद्रीय समिति की विस्तृत बैठक का एजेंडा तय किया जा रहा है.

येचुरी का कहना था कि बैठक में फ़िलहाल चुनावों में मिली हार पर आत्मंथन नहीं किया जाएगा.

बैठक में हिस्सा लेने वाले नेताओं में सीपीएम महासचिव प्रकाश करात के अलावा वरिष्ठ पोलित ब्यूरो सदस्य एम के पंधे, विमान बासु, माणिक सरकार, पिनरायी विजयन वगैरह शामिल थे.

बुद्धदेब भट्टाचार्य के अलावा निरूपम सेन भी बैठक में हिस्सा लेने नहीं पहुंचे.

ग़ौरतलब है कि यह पहला मौक़ा नही है जब भट्टाचार्य ने पोलित ब्यूरो बैठक में हिस्सा नहीं लिया.

2009 के लोकसभा चुनावों में भी पार्टी के ख़राब प्रदर्शन के बाद बुलाई गई बैठक में भी बुद्धदेब नहीं आए थे.

संबंधित समाचार