अफ़्रीका में जादू-टोना

  • वूडू
    पश्चिम अफ़्रीक़ा के लोग आदिम काल से झाड़फूँक और जादू टोने में विश्वास करते आए हैं. इसे यहाँ वूडू कहा जाता है. (सभी तस्वीरें - बनीन से बीबीसी संवाददाता राजेश जोशी)
  • वूडू के चिन्ह
    बनीन देश का उइदा गाँव वूडू का केंद्र है. गाँव में पहुँचते ही चारों ओर वूडू के चिन्ह दिखाई पड़ते हैं.
  • वूडू का बोर्ड
    पुजारियों ने गाँव के सबसे बड़े वूडू मंदिर के बोर्ड सड़कों पर लगाए हैं ताकि मन्नत मानने वाला सीधी वहाँ पहुँच सके.
  • वूडू मंदिर के अंदर का दृश्य
    मंदिर के अंदर घुसते ही विचित्र वस्तुएँ नज़र आती हैं.
  • श्रद्धालु
    धन-धान्य, व्यापार और प्रेम में सफलता की कामना लिए अफ़्रीक़ा के कोने कोने से यहाँ लोग आते हैं.
  • वूडू की दिवारें
    दीवारों पर पुराने और प्रतिष्ठित वूडू पुजारियों की तस्वीरें बनाई गई हैं.
  • नृत्य
    इन वूडू मास्टरों को बहुत सम्मान की नज़र से देखा जाता है. वूडू प्रकृति के पंचतत्वों पर विश्वास करते हैं.
  • नृत्य
    वूडू नर्तक परंपरागत ढोल डमरुओं की ताल पर नाच कर देवताओं का आह्वान करते हैं.
  • नृत्य के दर्शक
    उन्हें देखने गाँव भर के लोग इकट्ठा होते हैं और प्रार्थना करते हैं.
  • नृत्य
    ये नाच गाना कई घंटों तक चलता है.
  • पूजा का हिस्सा कछुआ
    उइदा के वूडू मंदिर में लोग कहते हैं कि इस कछुए की उम्र तीन सौ साल है. ये तंत्र मंत्र का आवश्यक हिस्सा होता है.
  • अजगर
    गाँव में अजगरों का एक मंदिर भी है जहाँ अजगर खुले में अलसाए पड़े रहते हैं.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.