गिरफ़्तार लोगों पर 'आतंकवाद' के आरोप

  • 7 जून 2010
गिरफ्तारी
Image caption इन दोनों लोगों को न्यूयॉर्क के जेएफ केनेडी एयरपोर्ट से गिरफ़्तार किया गया है.

न्यूयॉर्क के जॉन एफ केनेडी एयरपोर्ट पर दो लोगों को गिरफ़्तार किया गया है और उन पर अंतराष्ट्रीय आतंकवाद के आरोप लगाए गए हैं.

अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि इन दोनों की मंशा सोमालिया में जिहादी संगठनों में शामिल होने और विदेशों में अमरीकी सैनिकों को मारने की थी.

इन दोनों व्यक्तियों की पहचान 20 वर्षीय मोहम्मद महमूद अलेसा और 24 वर्षीय कार्लोस एडुवर्डो अलमोंटे के रुप में की गई है. ये दोनों अलग अलग विमानों से मिस्र के रास्ते सोमालिया जा रहे थे.

अमरीका के न्याय विभाग के अधिकारियों का कहना है कि राज्य और संघीय पुलिस अधिकारी 2006 से ही अलेसा और कार्लोस पर नज़र रख रहे थे.

इन दोनों पर सोमालिया के अल शबाब संगठन में शामिल होकर अमरीका से बाहर लोगों की हत्या करने, उन्हें नुकसान पहुंचाने और उनका अपहरण करने का षडयंत्र रचने का आरोप लगाया गया है. अल शबाब का संबंध अल क़ायदा से बताया जाता है.

अल शबाब को 2008 में अमरीका ने आतंकवादी संगठन घोषित किया था.

न्यूयॉर्क पुलिस विभाग के अंडरकवर अधिकारी का कहना है कि उन्होंने इन दोनों की एक बातचीत रिकार्ड की है जिसमें दोनों को अमरीकी लोगों को मारने की बात करते हुए सुना जा सकता है. ये दोनों भी अमरीकी नागरिक हैं.

पुलिस के अनुसार ये दोनों कई महीनों से सोमालिया जाने की योजना बना रहे थे और इसके लिए उन्होंने हज़ारों डॉलर बचाए थे. इतना ही नहीं दोनों ही गेम्स के ज़रिए मार पीट का अभ्यास भी करते थे और उन्होंने कई उपकरण भी ख़रीदे थे.

सोमालिया की सरकार ने इन गिरफ़्तारियों का स्वागत किया है. समाचार एजेंसी एपी ने एक सरकारी प्रवक्ता के हवाले से कहा है कि विदेशी चरमपंथी सोमालिया की शांति में सबसे बड़े बाधक हैं. हम इस क़दम का स्वागत करते हैं और अन्य सरकारों से भी अपील करते हैं कि वो अल शबाद के खिलाफ़ ऐसे ही क़दम उठाएं.

उल्लेखनीय है कि अमरीका में कुछ ही समय पहले न्यूयॉर्क के टाइम्स स्कवायर पर बम रखने के आरोप में पाकिस्तानी मूल के फ़ैसल शहज़ाद को गिरफ़्तार किया गया है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार