ईरान मामले पर आज होगा मतदान

संयुक्त राष्ट्र
Image caption सुरक्षा परिषद के कुछ अस्थायी सदस्य इसके विरोध में हैं लेकिन उनके पास वीटो के अधिकार नहीं हैं.

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने घोषणा की है कि ईरान पर नए प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव पर बुधवार को मतदान होगा.

अमरीका के रक्षा मंत्रि रॉबर्ट गेट्स ने कहा है कि उन्हें पूरा यकीन है कि सुरक्षा परिषद में यह प्रस्ताव जल्दी पारित हो जाएगा.

उनका कहना था कि ईरान को परमाणु हथियार संपन्न होने से रोकने में देरी नहीं हुई है लेकिन जल्दी कुछ करने की ज़रुरत है.

गेट्स इस समय लंदन की यात्रा पर हैं. उनका कहना था, ‘‘मुझे नहीं लगता कि ईरान पर रोक लगाने में देरी हुई है. हां ये ज़रुर है कि समय कम है लेकिन मुझे लगता है कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सहयोग होता तो हमारे पास ये ताकत होगी कि हम ईरान को परमाणु हथियार बनाने से रोक सकेंगे.’’

गेट्स के रुख का इंग्लैंड के रक्षा मंत्री लियाम फॉक्स ने भी समर्थन किया और कहा कि ईरान के नेतृत्व को यह बताना ज़रुरी है कि दुनिया इस मुद्दे को कितनी गंभीरता से ले रही है.

गेट्स का कहना था कि ईरान के साथ दबाव और कूटनीति दोनों से काम लेना होगा और उन्हें समझाना होगा कि वो ग़लत दिशा में जा रहे हैं.

उनका कहना था कि अगर ईरान परमाणु हथियार बनाता है तो उस क्षेत्र में अन्य देश भी इस दौड़ में शामिल हो जाएंगे जो परेशानी का सबब होगा.

ईरान के परमाणु कार्यक्रम के मद्देनज़र उस पर नए प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव पर मंगलवार को सहमति हुई थी. नए प्रतिबंधों के तहत ईरान पर पहले से ही लगे वित्तीय प्रतिबंध और कड़े हो जाएंगे.

इतना ही नहीं जहाज़ों की जांच और हथियारों के आयात पर लगा सीमित प्रतिबंध और व्यापक हो जाएगा.

संबंधित समाचार