सेक्स के बदले माफ़ करता था सज़ा...

Image caption जेमी स्लेटर ट्रेफ़िक पुलिस अधिकारी थे.

यौन संबंध के बदले सज़ा माफ़ करने के जुर्म में एक ब्रितानी ट्रेफ़्रिक पुलिस अधिकारी को जेल की सज़ा सुनाई गई है.

जेमी स्लेटर का अपराध ये था कि नियमों को तोड़ने वाली उन महिलाओं की सज़ा वे माफ़ कर देते थे जो उनके साथ यौन संबंध बनाने को राज़ी हो जाती थीं.

33 वर्षीय जेमी को कारडिफ़ क्राउन कोर्ट ने ग़लत बर्ताव के लिए साढ़े तीन साल की सज़ा सुनाई है.

ये अधिकारी गाड़ी चला रही महिलाओं को पहले रोकता था और फिर कहता था कि अगर वे उसके साथ यौन संबंध बनाएँगी तो वे उन्हें जाने देंगे और कोई जुर्माना वगैरह नहीं लगाएँगे.

कोर्ट में सुनवाई के दौरान बताया गया कि कैसे ये अधिकारी पुलिस नेशनल कंप्यूटर की मदद से पीड़ित महिलाओं के बारे में निजी जानकारी इकट्ठा करता था.

जेमी स्लेटर शादीशुदा हैं और उनके दो बच्चे हैं. उन्होंने छह महिलाओं को गाड़ी चलाने से जुड़े छोटे-मोटे मामलों में पहले रोका और फिर उनसे मोबाइल नंबर माँगे.

बाद में पुलिस अधिकारी ने इन महिला चालकों को एसएमएस किया कि कि वे उसके साथ यौन संबंध बनाएँ.

कोर्ट में बताया गया कि जिन महिलाओं ने इनकार कर दिया उन्हें जेमी स्लेटर ने बाद में परेशान किया.

'परेशान करता था'

अभियोजन पक्ष के पीटर डेविस ने बताया कि पीड़ित महिलाएँ बेबस महसूस कर रही थीं क्योंकि जेमी एक पुलिस अधिकारी थे.

पीटर डेविस ने कोर्ट में एक घटना के बारे में बताया, एक बार एक महिला केवल कामचलाउ लाइसेंस लेकर गाड़ी चला रही थीं और जेमी ने उन्हें रोक लिया. जेमी स्लेटर ने महिला से कहा कि कार ज़ब्त करनी पड़ेगी.ये सुनकर महिला घबरा गईं और रोने लगी. वे जेमी को अपना फ़ोन नंबर देने पर राज़ी हो गई ताकि उसकी कार ज़ब्त न हो.

उन्होंने कोर्ट को आगे बताया, "दोनों का प्रेम संबंध शुरु हो गया और दोनों ने एक बार यौन संबंध भी बनाया- उस समय जेमी ड्यूटी पर थे और उन्हें पुलिस रेडियो पर एक आपात कॉल भी आई थी. जेमी ने सड़क पर जाकर गशत भी लगाई, तब वो महिला उनकी गाड़ी में ही छिपी हुई थी."

पीटर डेविस के मुताबिक जब महिला के पति को इस बारे में पता चला तो जेमी स्लेटर ने पुलिस के डाटाबेस से उसका नंबर निकाला और उसे चिढ़ाने वाले एसएमएस भी भेजे.

एक अन्य घटना में पुलिस अधिकारी जेमी ने लाल बत्ती पार करने के लिए एक महिला को रोक लिया और उससे फ़ोन नंबर माँगा.

बाद में उस महिला को जेमी ने कई एसएमएस भेजे. इस घटना के बाद वो लड़की काफ़ी सहम गई और कहा कि पुलिस पर से उसका भरोसा उठ गया है.

जेमी स्लेटर को सज़ा सुनाते हुए जज ने कहा, “पुलिस अधिकारी ने ऐसे बर्ताव किया है जैसे कोई शिकारी अपने शिकार के साथ करता है. इस सब से पीड़ितों को तनाव से गुज़रना पड़ा. इससे साउथ वेल्स पुलिस में लोगों का विश्वास कम हुआ है.”

जेमी स्लेटर का बचाव कर रहे टॉम क्रोथर ने कहा कि जेमी को अपनी हरकतों पर अफ़सोस है. जेमी ने आठ महिलाओं से जुड़े आठ अलग-अलग मामलों में अपना जुर्म स्वीकार किया है.

संबंधित समाचार