भोपाल पर सोमवार को अंतिम रिपोर्ट

  • 18 जून 2010
पी चिदंबरम
Image caption भोपाल गैस पीड़ितों को अब जीओएम से आस

केंद्रीय गृहमंत्री पी चिदंबरम ने शुक्रवार को कहा कि भोपाल गैस त्रासदी से संबंधित मंत्रियों का समूह यानि जीओएम सोमवार को अपनी रिपोर्ट देगा.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भोपाल गैस त्रासदी से संबंधित जीओएम को बैठक बुला कर 10 दिनों के अंदर यानि 22 जून तक अपनी रिपोर्ट कैबिनेट को सौंपने का निर्देश दिया था.

गृह मंत्री पी चिदंबरम इस नौ सदस्यीय पुनर्गठित जीओएम के अध्यक्ष हैं.

शुक्रवार को इसकी पहली बैठक हुई. लगभग दो घंटे तक चली बैठक के बाद पी चिदंबरम ने संवाददाताओं को बताया कि मंत्रीसमूह सही दिशा में आगे बढ़ रहा है. वह राहत, पुनर्वास एवं क़ानूनी विकल्पों सहित विभिन्न पहलुओं पर सही दिशा में आगे बढ़ रहा है.

चिदंबरम ने कहा,'' हम व्यापक नज़रिया क़ायम करेंगे. फ़िलहाल प्रभावित लोगों की संख्या, स्वीकृत दावों की संख्या और मौत एवं प्रभावितों से जुडे़ मामलों के दावों पर विचार किया जा रहा है.मंत्रीसमूह की शनिवार और रविवार को दो सत्रों में बैठक होगी. सोमवार को हम अपनी सिफारिशों को अंतिम रूप दे सकेंगे.''

चिदंबरम ने कहा कि हम अपना बेहतरीन नतीजा देने की कोशिश करेंगे और उन सभी लोगों के लिए अत्यंत सहानुभूतिपूर्ण रवैया अपनाएंगे, जो इस त्रासदी की वजह से प्रभावित हुए हैं.

अदालती फ़ैसले से निराशा

25 साल से इंसाफ की आस लगाए पीड़ितों को उस समय भारी धक्का लगा जब सात जून को इस मामले में भोपाल की एक अदालत ने दोषियों को सिर्फ़ दो साल की सज़ा सुनाई और फिर उन्हें उसी समय ज़मानत दे दी गई.

अदालत के फ़ैसले से नाराज़ लोग सड़कों पर

इसके बाद उठे विवाद और यूनियन कार्बाइड के पूर्व प्रमुख वारेन एंडरसन को देश से भागने देने में मदद के सवाल पर पीड़ित, मीडिया और विपक्षी दल सभी सरकार पर निशाना साधने लगे. इसी के बीच मंत्रीसमूह का पुनर्गठन किया गया.

इस मंत्रीसमूह में केंद्रीय कानून मंत्री एम वीरप्पा मोइली, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ग़ुलाम नबी आज़ाद, सड़क परिवहन मंत्री कमलनाथ, रसायन मंत्री एम के अज़ागिरि, पर्यटन मंत्री कुमारी शैलजा, शहरी विकास मंत्री एस जयपाल रेडडी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री पृथ्वीराज चौहान और पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश शामिल हैं.

मध्य प्रदेश के मंत्री बाबूलाल गौर भी विशेष आमंत्रित के रूप में मंत्रीसमूह की बैठक में शामिल हुए. कैबिनेट सचिव के एम चंद्रशेखर, गृह सचिव जी के पिल्लै, विदेश सचिव निरुपमा राव ने भी बैठक में हिस्सा लिया.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार