नील नदी डेल्टा के नीचे एक प्राचीन शहर

  • 27 जून 2010
Image caption मिस्र के नील नदी डेल्टा के नीचे मिला प्राचीन नगर

मिस्र के सांस्कृतिक मंत्रालय का कहना है कि राडार से एक प्राचीन शहर 'अवारिस' का पता चला है. कोई 3,500 साल पहले यह हिकसॉस लोगों की राजधानी थी.

ऑस्ट्रिया के पुरातत्ववेत्ताओं के एक दल ने राडार इमेजिंग तकनीक से नील नदी के डेल्टा में इस भूमिगत नगर की रूपरेखा का पता लगाया.

हिकसॉस एशिया से आए विदेशी हमलावर थे जिन्होने एक शताब्दी तक मिस्र पर राज किया.

अवारिस उनकी ग्रीष्मकालीन राजधानी हुआ करती थी. यह आधुनिक नगर तल-अल-दबा के पास सैकड़ों सालों से ज़मीन के नीचे दबा हुआ है.

राडार से मिले चित्रों से पता चलता है कि नील नदी के डेल्टा के आधुनिक नगरों और हरे भरे खेतों के नीचे एक शहर है जिसमें मकान हैं सड़कें हैं.

मिस्र के पुरावशेषों के प्रमुख ज़ही हव्वास ने एक वक्तव्य में कहा कि यह नगर हिकसॉस की ग्रीष्मकालीन राजधानी का हिस्सा हो सकता है जिन्होने 1664-1569 ईसापूर्व मिस्र पर राज किया था.

ज़ही हव्वास ने कहा, "राडार इमिजिंग तकनीक से ली गईं तस्वीरें ज़मीन के नीचे बसा नगर दिखाती हैं जिसमें सड़कें हैं, मकान हैं और मकबरे हैं. यह उस काल की शहरी योजना का विवरण प्रदान करती हैं".

ऑस्ट्रियाई दल की प्रमुख आइरीन म्युलर का कहना है कि इस परियोजना का मुख्य उद्देश्य यह पता लगाना था कि यह भूमिगत शहर कितनी दूर तक फैला है.

उन्होने कहा, "इस भूभौतिकीय सर्वेक्षण का लक्ष्य इस प्राचीन शहर के आकार का पता लगाना था और हमारे दल ने इस शहर के भीतर न केवल मकानों और सड़कों का पता लगाया है बल्कि इसमें एक बंदरगाह भी है".

आइरीन म्युलर ने कहा, "इस अभियान से हमें नील नदी की एक सहायक नदी का भी पता चला जो शहर के बीच में से होकर बहती थी. साथ ही दो द्वीपों का भी पता चला है".

संबंधित समाचार