ग़ज़ा की नाकेबंदी कम की जाएगी: इसराइल

  • 6 जुलाई 2010
सामग्री
Image caption इसारइल ने ग़ज़ा सामान ले जाने के लिए थोड़ी छूट दी है

अमरीका और यूरोपीय संघ ने इसराइल के ग़ज़ा में नाकेबंदी को कम करने का स्वागत किया है और कहा है कि ये एक महत्वपूर्ण क़दम है.

मध्य पूर्व के अंतरराष्ट्रीय दूत टोनी ब्लेयर ने भी इसका स्वागत किया है.

इसराइल ने ग़ज़ा जाने वाली सभी उपभोक्ता सामग्री पर से प्रतिबंध हटा लिया है लेकिन निर्माण सामग्री केवल संयुक्त राष्ट्र की परियोजनाओं के लिए ही ले जाने की अनुमति है.

ग़ज़ा से निर्यात पर भी इसराइल ने पाबंदी लगा रखी है.

स्थानीय व्यापारियों और नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं का कहना है कि ग़ज़ा की ज़रूरतों के हिसाब से ये क़दम नाकाफ़ी है.

ग़ज़ा पर नियंत्रण रखने वाले संगठन हमास ने इन परिवर्तनों को बेकार बताया है.

इसराइल ने इन क़दमों की घोषणा प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू की अमरीका यात्रा से पहले की है.

इसराइल ने वर्ष 2005 से गज़ा की नाकेबंदी कर रखी है लेकिन पिछले दिनों वहाँ सहायता सामग्री ले जा रहे एक जहाज़ पर हमले में नौ मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की मौत के बाद से इसराइल पर अंतरराष्ट्रीय दबाव था कि वह ग़ज़ा को लेकर अपनी नीति में बदलाव करे.

इसराइल ने फ़िलहाल नाकेबंदी में कुछ ढील देने की बात कही है लेकिन फिलिस्तीनी संगठनों की मांग है कि ग़ज़ा पट्टी की नाकेबंदी पूरी तरह से ख़त्म की जानी चाहिए.

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक पाबंदियों की वजह से गज़ा में रह रहे लोगों को इस वक्त उनकी मूलभूत सुविधाओं का सिर्फ एक पाँचवाँ हिस्सा ही मिल पा रहा है.

संबंधित समाचार