भ्रष्टाचार के लिए मौत की सज़ा

युआन
Image caption भ्रष्ट्राचार से जुड़े घोटाले में कई बड़े अधिकारियों का नाम आया है.

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ मुहिम में चीन ने एक उच्च अधिकारी को मौत के घाट उतार दिया है.

चूंगचिंग मिउन्सिपल न्यायिक ब्यूरो के पूर्व निदेशक वेन चिआंग उन लोगों में शामिल थे जिनपर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे. इन सब लोगों में से चिआंग सबसे उच्च पदस्थ अधिकारी थे.

उन्हें रिश्वत लेने, बलात्कार और आपराधिक गुटों को बचाने का दोषी पाया गया था.

चूंगचिग इलाक़े में कम्युनिस्ट पार्टी के अध्यक्ष बू चिलाई ने भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ मुहिम शुरु की है और इसके तहत कई अधिकारियों के ख़िलाफ़ क़दम उठाए गए हैं.

वेन चिआंग 16 साल तक चूंगचिंग के उप पुलिस प्रमुख थे और बाद में यहाँ के उच्चतम न्यायिक अधिकारी बने.

शिन्हुआ एजेंसी के मुताबिक उन्हें स्वयं या अपनी पत्नी के ज़रिए रिश्वत में 17.6 डॉलर लेने का दोषी पाया गया था.

इसके अलावा वेन चिआंग ने पाँच आपराधिक गुटों को बचाने के लिए भी रिश्वत ली और अगस्त 2007 में एक यूनिवर्सिटी छात्रा का बलात्कार किया.

वेन चिआंग ने मौत की सज़ा के ख़िलाफ़ अपील की थी लेकिन मई में इसे खारिज कर दिया गया. हाई कोर्ट का कहना था कि उनके ख़िलाफ़ स्पष्ट सुबूत हैं.

भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ चल रहे अभियान में अब तक 90 से ज़्यादा अधिकारियों के ख़िलाफ़ क़दम उठाए जा चुके हैं.

संवाददाताओं का कहना है कि चूंगचिग में कम्युनिस्ट पार्टी के अध्यक्ष बू चिलाई ये अभियान इसलिए चला रहे हैं क्योंकि वे गवर्निंग पोलितब्यूरो में जगह पाना चाहते हैं.

संबंधित समाचार