इराक़ में आत्मघाती हमले, 50 मरे

घायल को अस्पताल पहुंचाया जा रहा
Image caption मार्च में चुनाव के बाद से इराक़ में हालात कुछ ज्यादा ही तनावपूर्ण बने हुए हैं

इराक़ी पुलिस का कहना है कि देश में हुए दो आत्मघाती हमलों में 50 लोग मारे गए हैं. पहला आत्मघाती बम धमाका दक्षिण पश्चिमी बग़दाद में हुआ जिसमें 43 लोग मारे गए और 40 लोग घायल हो गए हैं.

आत्मघाती हमलावर ने उस समय समय विस्फोट किया जब सरकार समर्थित सु्न्नी लड़ाके रदवानिया शहर में पैसों के लिए कतार में खड़े थे.

दूसरी घटना इराक़-सीरिया सीमा पर स्थित एक शहर में हुई जिसमें तीन लोग मारे गए.

अल क़ायदा का विरोधी संगठन सहवा

सुन्नी चरमपंथी लड़ाकों को सहवा कहा जाता है. एक समय इन लडा़कों का गठबंधन अल-कायदा के साथ था.

साल 2006 में ये लोग अल-कायदा के खिलाफ हो गए. तभी से ये अल क़ायदा लड़ाकों के निशाने पर हैं.

इराक़ के गृह मंत्रालय ने बताया है कि घायलों में कम से कम दो सैनिक भी हैं.

रॉयटर्स ने महमूदिया अस्पताल में एक घायल 20 वर्षीय तैसीर मेहसन के हवाले से कहा, ''वहां 85 से भी अधिक लोग अपना वेतन लेने के लिए कतार में खड़े थे. वो तीन पंक्तियों में खड़े थे तभी हमलावर पहुंचा. एक सैनिक ने जब उसे रोकने की कोशिश की तो उसने विस्फोट कर दिया.''

सहवा पर हमले तब से और भी बढ़ गए हैं जब से इन्होंने अल-कायदा के खिलाफ लड़ाई में अमरीकी सेना और सरकार का सहयोग करना शुरू कर दिया.

यह हमला ऐसे समय में हुआ है जब मार्च में हुए चुनावों के बाद राजनैतिक शून्यता बनी हुई है.

मार्च में इराक़ में चुनाव हुआ था जिसके बाद से हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. वहां कोई भी गठबंधन सरकार बनाने के लिए बहुमत नहीं जुटा पाया है.

नए गठबंधन सरकार पर सुन्नी, शिया और कुर्दिश एक सहमति बनाए रखने में असफल रहे हैं.

संबंधित समाचार