डेविड कैमरन की 'व्यापक समाज' की योजना

  • 19 जुलाई 2010
डेविड कैमरन
Image caption डेविड कैमरन ने अपने चुनाव अभियान के दौरान इस योजना का ज़िक्र किया था.

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने अलग-अलग समुदायों को और अधिक अधिकार देने के उद्देश्य से 'व्यापक समाज' के निर्माण के एक अभियान की शुरूआत की है.

लिवरपूल में एक भाषण के दौरान उन्होंने कहा कि इन समुदायों को यह अधिकार होना चाहिए कि वे अपने डाकघर, लायब्रेरी और परिवहन सेवाएँ चला सकें और आवास परियोजनाओं की रूपरेखा तय कर सकें.

उन्होंने बैंको से कहा कि इसके लिए वे उन खातों में जमा राशि का इस्तेमाल करें जो प्रयोग में नहीं हैं और बेकार पड़ी हैं.

हालाँकि स्वयंसेवी गुटों ने इस बात को लेकर सवाल उठाए हैं कि इन योजनाओं को पूरा करने के लिए ज़रूरी धनराशि कहाँ से आएगी.

कंज़रवेटिव पार्टी ने चुनाव के दौरान इस तरह के अभियान का ज़िक्र किया था और यह उसी के कार्यान्वयन की ओर एक क़दम है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि जबकि बजट घाटा कम करना उनका 'दायित्व' है और साथ ही यह 'राष्ट्र हित' में भी है, व्यक्तियों और समुदायों को उनके भाग्य का निर्णय करने के लिए अधिक शक्तिशाली बनाना भी उनकी योजना का एक हिस्सा रहा है.

उन्होंने कहा, "कुछ काम आप इसलिए भी करते हैं क्योंकि वह आपका जुनून होता है. जिस बात को सोच कर आपका उत्साह बढ़े, जो आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करे और जिसके बारे में आपको विश्वास हो कि यह उस देश के लिए बेहतर है जिससे आप प्यार करते हैं...एक व्यापक समाज का निर्माण मेरे लिए एक जुनून की तरह है".

चार हिस्सों में लागू होगी

प्रधानमंत्री ने कहा कि सामुदायिक परियोजनाएँ यूके के चार हिस्सों में शुरूआत की जाएगी-लिवरपूल, एडेन वैली; कम्ब्रिया; विंडसर ऐंड मेडेनहेड और लंदन बरॉ ऑफ़ सटन. डेविड कैमरन ने मंत्रियों से इन अलग-अलग इलाकों के कामों में रुचि लेने को कहा है और इसके अतिरिक्त प्रत्येक इलाक़े से विशेषज्ञ और सरकारी अधिकारी जुड़ेंगे जो इस बात की देखरेख करेंगे कि 'जनशक्ति' परियोजनाएँ सुचारू रूप से काम कर सकें.

ग़ैर सरकारी संगठनों ने आमतौर पर इस अवधारणा का स्वागत किया है लेकिन इस बात को लेकर चिंता ज़ाहिर की है कि इसके लिए पैसा कहाँ से आएगा जबकि इस बात के आसार हैं कि बजट में सार्वजनिक कोष में कटौती की जा सकती है.

नेशनल काउंसिल फ़ॉर वॉलंटरी ऑरगेनाइज़ेशन्स के बेन केरनिघन का कहना है, "कम संसाधनों के साथ इतनी बड़ी भूमिका निभाना एक बड़ी चुनौती होगी.

संबंधित समाचार