ऑडिटर ने लगाए महासचिव पर आरोप

बान कि मून
Image caption बान कि मून के नेतृत्व की पूर्व में भी काफ़ी आलोचना हुई है.

संयुक्त राष्ट्र के एक वरिष्ठ ऑडिटर ने संगठन के महासचिव बान की मून पर गंभीर आरोप लगाए हैं. ऑडिटर इंगा ब्रिट एलेनियस का कहना है कि संगठन में भ्रष्टाचार और दुर्व्यवहार को रोकने के उनके प्रयासों का महत्व महासचिव बान की मून ने बिल्कुल कम कर दिया है.

एलेनियस संयुक्त राष्ट्र की इंटरनल ओवरसाइट सर्विसेज़ ( जिसका कार्य संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न कार्यों पर नज़र रखना है) की प्रमुख हैं और वो अब संगठन छोड़ रही हैं. संगठन छोड़ने से पहले उन्होंने महासचिव को एक रिपोर्ट दी है जो लीक हो गई है.

इस पत्र में एलेनियस ने साफ़ कहा है कि बान के नेतृत्व में संयुक्त राष्ट्र एक ऐसे समय में गया जब संगठन को बेहतर दिशा और नेतृत्व नहीं मिला और सब कुछ बदतर होता चला गया.

हालांकि बान की मून के स्टाफ का कहना है कि महासचिव लगातार भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ कड़ा रवैया अपनाते रहे हैं.

एलेनियस ने बान की मून पर सीधे सीधे आरोप लगाया है कि उन्होंने एलेनियस के अधिकारों को धीरे धीरे इतना कम कर दिया कि कार्यक्रमों की देख रेख और समीक्षा का काम बिल्कुल कमज़ोर हो गया और इंटरनल ओवरसाइट यानी आंतरिक निगरानी बिल्कुल निर्रथक हो गई.

यह पहली बार नहीं है जब संयुक्त राष्ट्र महासचिव के नेतृत्व की ऐसी कड़ी आलोचना हुई हो. मून ने महासचिव बनने के बाद संयुक्त राष्ट्र की छवि बेहतरीन करने का संकल्प किया था लेकिन लगातार संगठन पर वित्तीय भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं.

एलेनियस ने कार्यकाल ख़त्म होने पर दी गई अपनी रिपोर्ट में कहा है कि संगठन में कोई पारदर्शिता नहीं है और जवाबदेही अत्यंत कम. 1994 में संयुक्त राष्ट्र ने 'इंटरनल ओवरसाइट सर्विसेज़' का ऑफिस बनाया था.

इसे स्वतंत्र रुप से संयुक्त राष्ट्र के विभिन्न कार्यों की जांच, ऑडिट और निरीक्षण का काम करना था.

एलेनियस के अनुसार इसकी स्थापना मजबूत नेतृत्व और अच्छे प्रशासन का प्रतीक थी लेकिन बान की मून ने इस पर अपना नियंत्रण करने की कोशिश की जिससे इसकी स्थिति ख़राब हो गई.

स्वीडन की पूर्व ऑडिटर जनरल एलेनियस लिखती हैं, '' मुझे अफ़सोस है कि संगठन दुर्गति की प्रक्रिया मे है. यह केवल टूट नहीं रहा है बल्कि उस दिशा में बढ़ रहा है जब इसका कोई महत्व न रहे.''

उन्होंने बान की मून और उनके वरिष्ठ सहयोगियों पर आरोप लगाया कि उन्होंने ओवरसाइट ऑफिस में कई पदों पर नियुक्तियां नहीं होने दी जिससे कार्य बुरी तरह प्रभावित हुआ.

इतना नहीं नहीं संयुक्त राष्ट्र अलग से जांच इकाईयाँ भी बनाई जो एलेनियस के अनुसार उनके कार्य का महत्व समाप्त करता था.

संबंधित समाचार