मानहानि के मामले में बच्चे की जीत

Image caption लिडल की यूरोप के कई देशों में दुकानें हैं

आयरलैंड के एक पांच वर्षीय बच्चे को एक बड़े स्टोर के ख़िलाफ़ मानहानि के मामले में जीत हासिल हुई है.

उसे मुआवज़े के रूप में 7500 यूरो मिले हैं.

मामला चिप्स चुराने के आरोप का है.

डब्लिन काउंटी के बलब्रिगन में लिडल स्टोर के एक कर्मचारी ने पिछले साल जून में टैड्ग मूनी नामक पाँच वर्षीय बच्चे पर क्रिस्प का एक पैकेट चुराने का आरोप लगाया था.

मूनी के साथ उसकी माँ भी थी जब स्टोर के कर्मचारी ने उस पर चोरी करने का आरोप लगाते हुए उसे बाँह से पकड़ा. जबकि असलियत में क्रिस्प के पैकेट के लिए मूनी की माँ भुगतान कर चुकी थी जिसका बिल भी उनके पास था.

चरित्र हनन

मूनी के वकील डरमॉट मैकनमारा ने मामले की सुनवाई कर रही अदालत से कहा कि उसके मुवक्किल की प्रतिष्ठा पर आँच आई है.

वकील ने कहा कि झूठे आरोप से मूनी के दिल को भी ठेस लगी और वह बहुत दिनों तक तनावग्रस्त रहा.

दलील पूरी होने के बाद मूनी के वकील ने लिडल के 7500 यूरो के मुआवज़े के प्रस्ताव को स्वीकृति के लिए जज मैथ्यू डीरी के सामने रखा. जज ने इसे मंज़ूरी दे दी.

वकील मैकनमारा के अनुसार मुआवज़े की रक़म पर सहमति महीने भर की बातचीत के बाद बन पाई.

संबंधित समाचार