संदिग्ध जवान अमरीका भेजा गया

विकीलीक्स वेबसाइट का लोगो
Image caption इन दस्तावेज़ों के लीक होने से हाहाकार मच गया था

उस अमरीकी सैनिक को कुवैत से अमरीका की जेल में भेज दिया गया है जिस पर ख़ुफ़िया सैनिक दस्तावेज़ों को विकीलीक्स नामक वेबसाइट को लीक करने का संदेह है.

इन दस्तावेज़ों को ब्रिटेन और अमरीका के एक अख़बार ने इसी सप्ताह प्रकाशित किया था जिनसे एक नया विवाद खड़ा हो गया था.

अमरीकी सेना ने कहा है कि सिपाही ब्रैडली मैनिंग ने इराक़ में गुप्तचर विश्लेषक के तौर पर काम किया था और अब उसे वाशिंगटन में एक अमरीकी सैनिक अड्डे में स्थित जेल भेजा गया है.

जवान ब्रैडली मैनिंग पर आरोप लगाया गया है कि उसने बग़दाद में एक लड़ाई का वीडियो लीक किया जिसमें एक फ़ोटो पत्रकार और ड्राइवर मारे गए थे.

आरोप

मैनिंग पर ये भी आरोप है कि उसने अफ़ग़ानिस्तान में चल रहे युद्ध के बारे में अति गोपनीय सैनिक दस्तावेज़ वेबसाइट विकीलीक्स को लीक किए हैं.

इन दस्तावेज़ों के प्रकाशित होने के बाद अमरीका और पाकिस्तान सरकार ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की थी.

इन दस्तावेज़ों के आधार पर निकाले गए निष्कर्षों में कहा गया था कि पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई का तालिबान को समर्थन रहा है जबकि पाकिस्तान ने इन निष्कर्षों का खंडन किया था.

अमरीका सरकार ने कहा था कि इस तरह की अति गोपनीय सैनिक जानकारी प्रकाशित करने से अमरीकी सैनिकों की सुरक्षा के लिए ख़तरा पैदा हो गया है.

संबंधित समाचार