लुटेरा उपदेश सुनने के बाद लौटा

ईसा मसीह की मूर्ति
Image caption महिला ने लुटेरे से कहा कि वो उससे केवल ईसा मसीह के बारे में बात करेगी

अमरीका के फ़्लोरिडा प्रदेश में एक मोबाइल स्टोर में घुसे एक लुटेरे ने स्टोर मैनेजर से ईसा मसीह की सीख सुनकर ना केवल लूट का इरादा छोड़ दिया बल्कि वहाँ से माफ़ी माँगता बैरंग वापस हो गया.

लुटेरा फ़्लोरिडा की ब्रोवार्ड काउंटी में 23 जुलाई को लूट के इरादे से घुसा और उसने युवा महिला मैनेजर नायरा गोन्साल्वेज़ पर पिस्तौल तान दी.

लेकिन 20 वर्षीया नायरा ने बिना डरे लुटेरे से कहा कि वो जो कर रहा है, वो ग़लत है.

कोई पाँच मिनट तक नायरा गोन्साल्विज़ उस लुटेरे को धर्म और सदाचार की सीख देती रही जिसके बाद लुटेरे का मन बदल गया

उसने उपदेश सुनकर आख़िरकार नायरा से माफ़ी माँगी और ये भी बताया कि उसकी पिस्तौल नक़ली है.

बातचीत

घटना के दौरान नायरा ने लुटेरों से कहा,"मैं तुमसे केवल ईसा मसीह के बारे में बात करना चाहती हूँ."

इसपर लुटेरे ने कहा कि वह ख़ुद भी एक ईसाई है और उसने जो किया उससे शर्मिंदा है.

उसने कहा कि उसे बेदख़ल होने से बचने के लिए 300 डॉलर की जरुरत थी और उसने इसीलिए लूट का रास्ता चुना.

इसपर नायरा गोंसाल्विज ने उससे कहा,"मैं नहीं जानती कि तुमपर क्या बीत रही है लेकिन फ़िलहाल सबलोग कठिन दौर से गुजर रहे हैं."

उसने लुटेरे को समझाया कि अगर लूट के कारण उसके हिसाब में कोई भी कमी होती है तो उसकी भरपाई उसे ही करनी होगी.

इसके बाद उस लुटेरे ने वहाँ से जाने का फ़ैसला किया.

प्रेरणा

नायरा गोंसाल्विज़ ने बीबीसी से कहा कि उन्हें ईश्वर से प्रेरणा मिली और उन्हें उम्मीद है कि वो लुटेरा चर्च की ओर आएगा.

उन्होंने कहा,"वो देखने से बुरा नहीं लग रहा था, वो अपराधी नहीं लग रहा था. इससे मेरा विश्वास बढ़ा और मैंने उससे वो कह दिया जो मैं कहना चाहती थी.

"उसने मेरे मन को छुआ. मैं तो सोच भी नहीं सकती थी कि मैं किसी ऐसे आदमी को उपदेश सुना सकूँगी जिसके हाथ में बंदूक हो.

"मैं केवल उसे गले लगाकर कहना चाहती थी कि कृपया तुम ये काम ना करो."

ब्रोवार्ड काउंटी के शेरिफ़ कार्यालय की एक कर्मचारी ने कहा कि अपने 14 साल के काम के दौरान उसने कभी ऐसा वाक़या नहीं देखा.

उसने साथ ही कहा कि हथियारबंद लूट की कोशिश करने के मामले में उस लुटेरे की खोज की जा रही है.

संबंधित समाचार