ईरान में बहाई सदस्यों को सज़ा

  • 9 अगस्त 2010
Image caption ईरान बहाई धर्म को इस्लाम विरोधी मानता है.

ईरान से ख़बरें आ रही हैं कि वहां सात वरिष्ठ बहाई सदस्यों को 20 साल तक की क़ैद की सज़ा सुनाई गई है.

इन पर कई आरोप लगाए गए थे जिनमें इस्लाम के ख़िलाफ़ काम करना और जासूसी भी शामिल है.

बहाई समुदाय के दूसरे सदस्यों ने इन आरोपों को निराधार बताया है.

उनका कहना है कि ये ईरान में बहाई समुदाय पर हो रहे ज़ुल्मों का एक और उदाहरण है.

बीबीसी संवाददाता जोन लिएन का कहना है कि पांच साल पहले राष्ट्रपति अहमदीनेजाद के सत्ता में आने के बाद से स्थिति बदतर हो गई है.

ईरान में अधिकारी बहाई धर्म को एक वैध धर्म नहीं मानते और उनका कहना है कि बहाई समुदाय इस्लाम के ख़िलाफ़ राय रखता है.

इन सात वरिष्ठ बहाई सदस्यों को दो साल पहले गिरफ़्तार किया गया था.

ईरान की नोबेल शांति पुरस्कार विजेता शिरीन अबादी ने भी बहाइयों का मामला उठाया है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार