'मैं लड़के से शादी क्यों नहीं कर सकती?'

  • 9 अगस्त 2010
Image caption ये मुकदमा हॉंगकॉंग के कानून में छिपे विरोधाभास को सामने रखेगा.

हॉंगकॉंग की एक महिला जो पहले पुरूष थी अपने ब्वायफ़्रेंड से शादी के लिए मुकदमा दायर कर रही है.

हॉंगकॉंग के अधिकारी उसे यह शादी करने का अधिकार नहीं दे रहे हैं.

इस महिला ने खुद को बेनाम रखा है और सिर्फ़ डब्ल्यू के नाम से पहचानी जाती है.

बीस साल से कुछ ज़्यादा उम्र की ये महिला पहले पुरूष थी और कुछ साल पहले उसने एक सरकारी अस्पताल में लिंग परिवर्तन करवाया था.

सरकार का कहना है कि वो ये शादी नहीं कर सकती क्योंकि ऐसा करने से ये समलैंगिक विवाह होगा और वहां का क़ानून इसकी इजाज़त नहीं देता.

इसलिए ये महिला अब उच्च अदालत का दरवाज़ा खटखटा रही है.

ये मुकदमा स्थानीय प्रशासनिक तंत्र के अंतरविरोधों को सामने ला रहा है इसमें कोई शक नहीं.

उसकी पहचान पत्र में उसे एक महिला दिखाया है और उसे अपने ऑपरेशन के लिए सरकार से मदद भी मिली थी. उसका जन्म प्रमाण पत्र उसे अब भी पुरूष बताता है.

हॉंगकॉंग के क़ानून के तहत इसे बदला नहीं जा सकता.

महिला के वकील, माइक विडलर, का कहना है कि हॉंगकॉंग का तंत्र लिंग परिवर्तन के लिए मदद तो देता है लेकिन परिवर्तन के बाद महिला को दूसरी महिलाओं वाले अधिकार नहीं देता.