मुआवज़े के दावों की जांच

बीपी का लोगो
Image caption पिछले हफ़्ते मुआवज़े की झूठी दावेदारी के लिए एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है.

मैक्सिको की खाड़ी में तेल रिसाव के लिए ज़िम्मेदार ब्रितानी तेल कंपनी ब्रिटिश पेट्रोलियम ने मुआवज़े की सैकड़ों दावेदारियों में धोखाधड़ी की जांच कर रही है.

अमरीका के लूज़ीयाना राज्य में जिन मछुआरों को तेल रिसाव के कारण भारी नुकसान उठाना पड़ा है. इसके बाद बीपी को इस नुकसान की भरपाई करने के लिए कहा गया था.

लेकिन अब बीपी का विशेष जांच दस्ता मुआवज़े के लिए आई अर्ज़ियों की पड़ताल कर रहा है.

अतिरिक्त लाइसेंस

दरअसल मुआवज़े की राशि पर दावा करने के लिए लूज़ीयाना के मछुआरों को ये साबित करना होता है कि उनके पास 'कॉमर्शियल फ़िशिंग' करने का लाइसेंस हो.

Image caption मैक्सिको की खाड़ी में तेल रिसाव के बाद इस क्षेत्र के अधिकतर हिस्सों में मछली मारने पर प्रतिबंध लगा हुआ है.

दिलचस्प है कि लूज़ियाना राज्य की ‘वाइल्डलाइफ़ ऐंड फ़िशरीज़ डिपार्टमेंट’ ने तेल रिसाव शुरु होने के बाद गत वर्ष के मुक़ाबले मछली पकड़ने के लिए दो हज़ार अतिरिक्त लाइसेंस जारी किए हैं.

इससे कुछ मछुआरे हैरान है क्योंकि जब मैक्सिको की खाड़ी में अधिकतर क्षेत्र मछली मारने के लिए बंद है तब अतिरिक्त लाइसेंस की ज़रुरत क्यों पड़ी.

बीपी के एक अधिकारी एलन कारपेंटर का कहना है कि किसी भी बड़े हादसे के बाद मुआवज़े के लिए आने वाली दावेदारियों में से दस फ़ीसदी के ग़लत होने की संभावना रहती है, शायद इसीलिए ये हैरानगी की बात नहीं कि कुछ लोग इस व्यवस्था का फ़ायदा उठाने की फ़िराक़ में हैं.

लूज़ीयाना में ‘वाइल्डलाइफ़ ऐंड फ़िशरीज़’ विभाग के अधिकारियों का कहना है कि शुरु में बीपी बिना किसी जांच के हर लाइसेंस धारक को मुआवज़े के चेक दे रहा था.

पिछले हफ़्ते दस हज़ार अमरीकी डॉलर का झूठा दावा करने वाले एक व्यक्ति को पुलिस ग़िरफ़्तार भी किया है.

मुआवज़े की राशि पर दावा करने के लिए लूज़ीयाना के मछुआरों को ये साबित करना होता है कि उनके पास 'कॉमर्शियल फ़िशिंग' का लाइसेंस हो.

संबंधित समाचार