ईरान का बुशेहर संयंत्र चालू करेगा रूस

बुशेहर परमाणु संयंत्र
Image caption बुशेहर परमाण केंद्र का पूरा संचालन रूस के हाथों मे रहेगा

रूस का कहना है कि वह ईरान के बुशेहर परमाणु केंद्र के रियैक्टर को अगले हफ्ते से चालू कर देगा.

रूस की सरकारी परमाणु संस्था का कहना है कि उसके इंजीनियर 21 अगस्त से बुशेहर परमाणु केंद्र के रियैक्टर में ईंधन भरना शुरू कर देंगे.

एक रूसी प्रवक्ता सरगेई नोविकोफ़ का कहना है, “रियैक्टर में 21 अगस्त से ईंधन भरना शुरू कर दिया जाएगा, और उसी पल से बुशेहर परमाणु संस्थान चालू हो जाएगा.”

लेकिन रूसी प्रवक्ता ने ये स्पष्ट नहीं किया है कि रियैक्टर पूरी तरह से सक्रिय कब माना जाएगा.

इसके लिए अभी कोई तारीख़ निश्चित नहीं की गई है.

काहिरा से बीबीसी संवाददाता जॉन लिन के मुताबिक रूस की इस घोषणा पर ईरान का संशय तब तक दूर नहीं होगा जब तक कि बुशेहर परमाणु केंद्र पर पूरी सक्रियता से बिजली का उत्पादन शुरू न हो जाए.

ईरान के विवादित परमाणु कार्यक्रमों पर उठे विवाद के बीच ही रूस 1992 से बुशेहर परमाणु संयंत्र के निर्माण में लगा हुआ है.

बुशेहर

  • बुशेहर परमाणु केंद्र के निर्माण में 35 साल लगे हैं.
  • इस देरी के पीछे विवादों का लंबा इतिहास साफ़ दिखता है, जो वैश्विक राजनीति के भँवर में फंसा रहा.
  • बुशेहर परमाणु केंद्र के निर्माण का काम जर्मनी की सहायता से सन 1974 में शुरू हुआ था.
  • सन 1979 में इस्लामिक क्रांति के बाद बुशेहर निर्माण कार्य रुक गया.
  • सन 1992 में रूस की मदद से काम फिर शुरु हुआ.
  • सन 2007 में रूस और ईरान बुशेहर परमाणु केंद्र के निर्माण को पूरा करने पर राज़ी हुए.
  • बुशेहर परमाणु केंद्र में दबाव अनुकूलित दो जल संयंत्र लगाए गए हैं.
  • इन दोनों पर 60 करोड़ पाउंड की लागत आई.

रूस न केवल बुशेहर परमाणु संयंत्र का संचालन अपने हाथों में रखेगा, बल्कि उसमें ईंधन भी भरेगा, और परमाणु कचरे को भी ठिकाने लगाएगा.

इसीलिए परमाणु विशेषज्ञ फ़िलहाल इस संयंत्र से परमाणु हथियार बनने का ख़तरा नहीं देख रहे.

ईरान को हथियार और तकनीक की सप्लाई करने वाला प्रमुख देश रूस है.

हालांकि पिछले कुछ महीनों से दोनों देशों के रिश्तों में ठंडापन तभी आ गया था जब ईरान पर प्रतिबंध कड़े करने के संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव का रूस ने समर्थन किया था.

ईरान के यूरेनियम संवर्धन कार्यक्रमों को रोकने के उद्देश्य से संयुक्त राष्ट्र ने ये प्रस्ताव रखा था.

संबंधित समाचार