स्थिति सुधरने पर ही वापसी होगी: पेट्रेयस

Image caption पेट्रेयस ने कहा है कि उनके पास ये अधिकार है कि वो राष्ट्रपति ओबामा से कह सकें कि अभी फ़ौज वापस बुलाना जल्दबाज़ी होगी.

अफ़गानिस्तान में नेटो गठबंधन के कमांडर जनरल डेविड पेट्रेयस ने कहा है कि वहां स्थिति सुधरने पर ही 2011 से अमरीकी सेना की वापसी शुरू होगी.

एनबीसी टेलीविज़न पर दिए इंटरव्यू में पेट्रेयस ने कहा है कि उनके पास ये अधिकार है कि वो राष्ट्रपति ओबामा को कह सकें अभी सेना वापस बुलाना जल्दबाज़ी होगी.

पिछले दिनों में राष्ट्रपति ओबामा ने कई बार ये उम्मीद जताई है कि अफ़गानिस्तान से सेना की वापसी अगली गर्मियों तक शुरू हो सकेगी.

जुलाई अमरीकी फ़ौज के लिए 10 साल से चल रहे अफ़गानिस्तान युद्ध के सबसे घातक महीनों में से एक रहा है.

जनरल पेट्रयस ने कहा है कि अफ़गानिस्तान एक कठिन अभियान है और आगे भी रहेगा.

उनका कहना था, “अगर हालात इजाज़त देते हैं तो हम सुरक्षा का भार अफ़गान सेना को सौंपेंगे और वही सेना की वापसी का एक ज़िम्मेदार तरीका होगा.”

पेट्रेयस ने अफ़गानिस्तान में नेटो कमांडर का पद पिछले महीने ही संभाला है.

समर्थन में कमी

अमरीका और अन्य सहयोगी देशों में अफ़गानिस्तान युद्द के लिए समर्थन कम होता जा रहा है जैसे जैसे वहां मारे जानेवाले विदेशी सैनिकों की संख्या बढ़ रही है.

नीदरलैंड ने दो महीने पहले अपनी सेना वापस बुला ली और कनाडा ने अगले साल की समयसीमा की घोषणा कर दी है.

इसके बाद मुख्य रूप से अमरीकी और ब्रितानी सैनिक ही वहां रह जाते हैं.

जनरल पेट्रेयस ने इराक़ में उस नीति का नेतृ्तव किया था जिसके तहत वहां सेना में बढ़ोतरी की गई और स्थिति को सामान्य करने की कोशिश की गई.

उन्होंने कहा कि अफ़गानिस्तान में शांति की कोशिशों के तहत तालिबान से भी बात करनी होगी.

उनका कहना था, “इराक़ में हमारे सामने प्रश्न था कि क्या हम उनसे बात करें जिनके हाथ हमारे ख़ून से सने हुए हैं? और जवाब था...हां..और ये फ़ैसला मुझे शुरूआती दिनों में ही लेना पड़ा था.”

संबंधित समाचार