बंधक पर्यटक छुड़ाए गए

  • 23 अगस्त 2010
Image caption पुलिस ने बहुत सतर्कता से कार्रवाई की लेकिन सात पर्यटकों को अपहर्ता ने मार डाला

फ़िलीपींस की राजधानी मनीला में पुलिस ने एक नाटकीय कार्रवाई में बंधक बनाए गए विदेशी पर्यटकों को छुड़ा लिया है.

दिन भर मनीला पुलिस ने अपहर्ता से बातचीत करके बंधकों को छुड़ाने की कोशिश की लेकिन रात के वक़्त पुलिस ने बस में पीछे से घुसकर अपहर्ता को मार डाला.

एम-16 राइफ़ल से लैस अपहर्ता ने सात विदेशी बंधकों को मार डाला है.

पुलिस की नौकरी से निकाले गए 55 वर्षीय रोनाल्ड मैंडोज़ा ने हांगकांग से आए पर्यटकों की बस को अगवा कर लिया था और अपनी नौकरी बहाल करने की शर्त पर लोगों को छोड़ने की माँग कर रहा था.

अपहर्ता ने पहले 22 पर्यटकों को अगवा किया था और बाद में आठ लोगों को छोड़ दिया था, बस में कई महिलाएँ और बच्चे भी थे.

बस में तीन फिलीपीनी नागरिकों- ड्राइवर, गाइड और फोटोग्राफ़र-को छोड़कर बाक़ी सभी हांगकांग के रहने वाले थे.

वर्ष 2008 में मैंडोज़ा को डकैती में शामिल होने और मादक पदार्थों के सेवन के आरोप में पुलिस की नौकरी से निकाल दिया गया था.

इस नाटकीय घटनाक्रम का फ़िलीपींस में टीवी पर सीधा प्रसारण किया गया. पुलिस ने काफ़ी समय तक अपहर्ता से बातचीत करके बंधकों की रिहाई की कोशिश की लेकिन बात नहीं बनने पर बस पर धावा बोल दिया.

मनीला से बीबीसी संवाददाता का कहना है कि पुलिस ने इस मामले में काफ़ी संयम से काम लिया.

संबंधित समाचार