फ़ेसबुक पर जारी हुई हिटलिस्ट

फ़ेसबुक

कोलंबिया में सोशल नेटवर्किंग साइट फ़ेसबुक पर जारी एक हिटलिस्ट की वजह से सनसनी और खलबली फैल गई है.

पुलिस इस हिटलिस्ट में शामिल तीन लोगों के मारे जाने की मामले की जाँच कर रही है.

इस लिस्ट में दक्षिणी कोलंबिया के पोर्टो एसिस शहर के 83 नौजवानों के नाम दिए गए हैं और उन्हें चेतावनी दी गई है कि या तो वे लोग शहर छोड़कर चले जाएँ या फिर उन्हें मार दिया जाएगा.

जिन तीन नौजवानों को मारा गया है उनमें से दो को 15 अगस्त को गोली मार दी गई जबकि एक को पाँच दिन बाद मारा गया.

पुलिस ने वहाँ एक जाँच दल को भेजा है जिसमें इंटरनेट विशेषज्ञ भी शामिल हैं. पुलिस यह जानना चाहती है कि इन धमकियों के पीछे कौन है.

एक स्थानीय अधिकारी का कहना है कि एक आपराधिक गिरोह ने हाल ही में अपने कारोबार का विस्तार किया है और वह स्थानीय लोगों को आतंकित कर रहा है.

सोलह वर्षीय डिएगो फ़ेरनी जारामिलो और 17 वर्षीय ऐबर्ट एलेजांद्रो रुइज़ म्युनोज़ को शहर के बाहर उस समय मार दिया गया जब वे अपनी मोटरसाइकिल पर कहीं जा रहे थे.

इसी समय फ़ेसबुक पर बहुत से लोगों के नाम से धमकी दी गई. इस लिस्ट में इन दोनों नौजवानों के नाम शामिल थे.

पुलिस ने पहले तो इसे सिर्फ़ धमकी के तौर पर देखा लेकिन जब इस लिस्ट में शामिल एक और नौजवान नॉर्बे एलेक्ज़ेंडर वर्गास को मार दिया गया तो उसके बाद पुलिस ने इसकी गंभीरता से जाँच शुरु की.

इसके बाद धमकी दोहराई गई और इस बार पर्चे छापकर उसे कारों पर चस्पा कर दिया गया और लोगों को घर के पते पर भेजा गया.

इसमें कहा गया है, "रिश्तेदार होने के नाते उनसे कहिए कि वे तीन दिनों के भीतर शहर छोड़कर चले जाएँ वरना हमें 15 अगस्त की तरह और कार्रवाई करनी पड़ेगी."

सोमवार को एक और सूची प्रकाशित की गई. इस बार इस सूची में 31 स्थानीय लड़कियों के नाम थे.

प्रांत के एक अधिकारी एंड्रेस जेरार्डो वेर्डुगो का कहना है कि इन धमकियों की वजह से शहर में खलबली मच गई है और कुछ परिवारों ने शहर छोड़ दिया है.

पुलिस अधिकारियों ने अभी तक इस बारे में कुछ नहीं कहा है कि इसके पीछे कौन हो सकता है और वह शहर के नौजवानों को ही क्यों निशाना बना रहा है.

संबंधित समाचार