पहले विश्वयुद्ध के सैनिक का शव मिला

पहाड़
Image caption जिस सैनिक का शव पाया गया है वह वर्दी और जूते पहने हुए है.

इटली के उत्तरी हिस्से में स्थित मारमोलाडा पहाड़ी की चोटी पर पहले विश्व युद्ध में लड़ने वाले एक सैनिक के अवशेष बर्फ में दबे हुए पाए गए हैं.

यह सैनिक सेना की वर्दी और जूते पहने हुए है और यह लिबास कुछ ऐसा ही जैसा कि 1915 और 1918 में ऑस्ट्रिया की सेनाओं के खिलाफ अभियान में इस्तेमाल किए गए थे.

ख़तरनाक युद्धक्षेत्र

विशेषज्ञों का मानना है कि यह शव इटली के किसी सैनिक का है. इस सैनिक के अवशेष पाए जाने के बाद लोगों का ध्यान एक बार फिर यूरोप के सबसे ख़तरनाक युद्धक्षेत्रों में से एक की ओर गया है.

तीन हज़ार मीटर से अधिक की ऊँचाई पर स्थित मारमोलाडा मासिफ़ पहाड़ी एक बहुत बड़े ग्लेशियर और सीधी चट्टानों का मिला-जुला रूप है.

वर्ष 1994 में इसे ऑस्ट्रो-हंगेरियन शासन और इटली की राजधानी की सीमा के रूप में जाना जाता था.

यहाँ के बर्फ़ीले तूफ़ान, बर्फ़बारी और जमा देने वाली ठंड के बावजदू ऑस्ट्रियाई और हंगरी की सेनाओं ने एक साझा दुश्मन के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़ी थी.

करीब एक सदी बाद यहाँ के पिघलते ग्लेशियर यह बता रहे हैं कि इस युद्ध की कितनी क़ीमत मनुष्य को चुकानी पड़ी थी.

संबंधित समाचार