कार्ला ब्रूनी को 'वेश्या' कहा

  • 31 अगस्त 2010
कार्ला ब्रूनी और निकोला सारकोज़ी
Image caption राष्ट्रपति और उनकी पत्नी दोनों ने सकीना को बचाने का समर्थन किया है

ईरान में एक महिला को पत्थर मार-मारकर मौत की सज़ा देने का विरोध क्या किया, वहाँ के सरकारी अख़बार ने फ़्रांस की प्रथम महिला कार्ला ब्रूनी को 'वेश्या' कह दिया.

फ़्रांसीसी राष्ट्रपति की पत्नी कार्ला ब्रूनी उस अभियान का हिस्सा बन गई थीं जो दो बच्चों की माँ 43 वर्षीय सकीना मोहम्मदी अश्तियानी को बचाने के लिए छेड़ा गया है.

इस महिला पर आरोप है कि उसने अपने पति को धोखा दिया और फिर उसे मरवाने में सहयोग किया. इन अपराधों के लिए उसे मौत की सज़ा सुनाई गई है.

फ़्रांस ने यूरोपीय संघ से अनुरोध किया है कि इस मामले को लेकर ईरान पर नए प्रतिबंध लगाने चाहिए.

सकीना के समर्थन में फ़्रांस के कई शहरों में रैलियाँ निकाली गई हैं.

इस अभियान को उस समय और ताक़त मिल गई जब राष्ट्रपति निकोला सरकोज़ी और उनकी पत्नी कार्ला ब्रूनी ने इसे समर्थन देने की घोषणा की.

कार्ला ब्रूनी ने तो इस महिला को एक खुला पत्र भी भेजा.

इस पत्र में कार्ला ब्रूनी ने लिखा है, "अपने बच्चों को उनकी माँ से वंचित करने के लिए क्यों ख़ून बहाना?"

उन्होंने लिखा, "सिर्फ़ इसलिए क्योंकि आप अपना जीवन जिया, आपने प्यार किया, क्योंकि आप एक औरत हैं, और क्योंकि आप ईरानी हैं"?

उन्होंने लिखा कि उनकी अंतरात्मा इसे स्वीकार करने को तैयार नहीं है.

अनैतिकता

Image caption सकीना के समर्थन में अभियान चल रहा है

सकीना मोहम्मद अश्तियानी को अपने पति से बेवफ़ाई करने का दोषी पाया गया लेकिन हत्या के आरोप से उसे मुक्त कर दिया गया.

उसे बचाने के अभियान में जुटी कार्ला ब्रूनी के खुले पत्र का जवाब देते हुए ईरान के सरकारी अख़बार केहान ने संपादकीय लिखा है.

"फ़्रांसिसी वेश्या मानवाधिकार अभियान में शामिल" शीर्षक से लिखे गए संपादकीय में कार्ला ब्रूनी पर पाखंडी होने का आरोप लगाया गया है.

इस लेख में उनके रंगीन प्रेम प्रसंगों और कई बड़ी हस्तियों से उनके रिश्तों का ज़िक्र किया गया है.

इस लेख में कार्ला ब्रूनी की मित्र और फ़्रांसीसी अभिनेत्री इसाबेली अदजानी पर निशाना साधा गया है क्योंकि वे भी सकीना की रिहाई की माँग कर रही हैं.

सरकारी अख़बार केहान देश में सत्तारूढ़ कट्टरपंथी इस्लामी ताक़तों के मुखपत्र की तरह कार्य करता है.

और इतना भर नहीं, सरकारी अख़बार के साथ सरकारी टेलीविज़न भी इसमें शामिल हो गया है और उसने कहा है कि कार्ला ब्रूनी अपनी अनैतिकता को न्यायोचित ठहराने की कोशिश कर रही हैं.

अब तक इस पर फ़्रांसीसी राष्ट्रपति निवास से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार