कनाडा में पतंगों पर पाबंदी

पतंगें
Image caption कई देशों में त्यौहारों के दिन पतंगें उड़ाने की प्रतियोगिताएँ होती हैं

कनाडा के एक पार्क में पतंग उड़ाने पर लगी पाबंदी पतंग उड़ानेवालों को रास नहीं आ रही है.

पतंग उड़ाने के दौरान लोगों के घायल हो जाने की कुछ घटनाओं के बाद ये फ़ैसला किया गया है.

टोरंटो के इस पार्क में पतंग उड़ाने आनेवालों में मूल रूप से पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान के लोग हैं.

टोरंटो के पार्क प्राधिकरण के प्रमुख ब्रेंडा पैटर्सन का कहना है कि समस्या पतंग उड़ाने के लिए इस्तेमाल होनेवाले धागे को लेकर है.

ब्रेंडा पैटर्सन ने कहा," पतंग उड़ाने वाला धागा नायलॉन का होता है और इसपर शीशा चढ़ा होता है. इन धागों का उद्देश्य एक दूसरे को काटना होता है. ये लोगों और वन्यजीवन के लिए ख़तरनाक हो सकते हैं."

पतंगों पर ये पाबंदी कुछ ऐसी घटनाओं के बाद लगाई गई है जिसमें एक बार किसी का कान पतंग के धागे से कट गया था तो वहीं कुछ लोगों ने ये शिकायत की थी कि उनके घरों में पतंग के उलझे हुए धागे छोड़ दिए गए थे.

पतंग की लोकप्रियता

कनाडा के ही कुछ अन्य शहर जहाँ दक्षिण एशियाइयों की संख्या काफ़ी अधिक है, पतंग उड़ाना लोकप्रिय है लेकिन वहाँ इस तरह की समस्या सामने नहीं आई हैं.

Image caption भारत समेंत दक्षिण एशिया के कई देशों में पतंग ख़ासा लोकप्रिय है

आपत्ति के बाद अब कहा जा रहा है कि इस प्रस्ताव पर विचार किया जाएगा कि पतंग उड़ाने के शौकीनों के लिए अलग से एक जगह तय कर दी जाए.

यूं तो पतंग उड़ाने को दक्षिण एशिया के देशों, ख़ासकर भारत,पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान की परंपरा का हिस्सा माना जाता है लेकिन मध्य पूर्व के देशों में भी ये ख़ासा लोकप्रिय है.

पतंग उड़ाने के दौरान हुई दुर्घटनाओं की वजह से पहले पाकिस्तान में भी इस खेल पर पाबंदी लगी है और इसे लेकर गिरफ़्तारियाँ भी हुई हैं.

संबंधित समाचार