खाताधारकों में खलबली, सशस्त्र पुलिस तैनात

क़ाबुल बैंक
Image caption क़ाबुल बैंक अफ़ग़ानिस्तान का सबसे बड़ा व्यावसायिक बैंक है

अफ़ग़ानिस्तान में काबुल बैंक के डूबने की आशंकाओं के बीच अपना पैसा निकालने के लिए खाताधारकों में खलबली मच गई है.

काबुल में बैंक की प्रमुख शाखा से अपना पैसा निकालने के लिए खाताधारकों की लंबी क़तारें देखी गईं. बैंक के बाहर मशीनगनों के साथ सशस्त्र पुलिस और उसके पिक-अप ट्रक तैनात हैं.

भीड़ को क़ाबू में रखने के लिए इलाक़े में कंटीली तारें भी लगा दी गई हैं.

अफ़रातफ़री

इसी हफ़्ते बैंक पर लगे भ्रष्टाचार और कुप्रबंधन के आरोपों के बाद खाताधारकों में पैसा निकालने के लिए अफ़रातफ़री मच गई.

बीबीसी संवाददाता मार्क डमैट ने बताया कि बैंक की प्रमुख शाख़ा के बहर लोगों की भीड़ रविवार सुबह होने से ही जुटनी शुरू हो गई थी.

खाताधारकों से कहा गया है कि बैंक की प्रमुख शाख़ा में ही अमरीकी डॉलर उपलब्ध हैं पर वे 10 हज़ार डॉलर तक की अधिकतम रक़म ही निकाल सकते हैं.

बैंक के गवर्नर अब्दुल क़ादिर फ़ितरत ने बीबीसी को बताया कि कतारें सामान्य से कुछ ही बड़ी है और बैंक किसी तरह के ख़तरे का सामना नहीं कर रहा है.

उनका कहना था कि ज्यादातर लोग आगामी ईद से पहले उपहार वग़ैरह ख़रीदने के लिए अपना पैसा निकाल रहे हैं.

बैंक पर संकट

रिपोर्टें हैं कि अफ़ग़ानिस्तान के ये सबसे बड़ा व्यावसायिक बैंक इतने भारी क़र्ज़ में डूबा हुआ है कि वह उसका भुगतान करने में असमर्थ है.

इसी बीच अमरीकी वित्त मंत्रालय ने इन ख़बरों का खंडन किया है कि बैंक को उबारने के लिए कोई पैकेज दिया जाएगा.

अमरीकी वित्त उपमंत्री नील वौलिन ने इस बारे में कहा, "हालांकि हम अफ़ग़ानिस्तान सरकार को तकनीकी मदद दे रहे हैं लेकिन काबुल बैंक को मदद देने के लिए अमरीकी करदाताओं का पैसा इसतेमाल नहीं किया जाएगा."

इस्तीफ़ों का राज़

पिछले हफ़्ते अख़बारों की ख़बरों में कहा जा रहा था कि बैंक के दो वरिष्ठ अधिकारियों को पद से हटा दिया गया है.

हटाए गए बैंक के अध्यक्ष शेरख़ान फ़र्नूद और प्रमुख कार्यकारी अधिकारी ख़लीलुल्लाह फ़ीरोज़ी दोनों बैंक के 28-28 प्रतिशत शेयरों के मालिक हैं.

लेकिन बैंक के गवर्नर अब्दुल क़ादिर फ़ितरत का कहना है कि उन दोनों अधिकारियों ने स्वेच्छा से इस्तीफ़ा दिया है क्योंकि नए का़नूनों के हिसाब से बैंक के शेयर होल्डरों को अधिकारी पद पर रहने की अनुमति नहीं है.

संबंधित समाचार