चालबाज़ पायलटों के 'हवाई करतब'

  • 6 सितंबर 2010
Image caption चीन में पायलटों की माँग तेज़ी से बढ़ी है

चीन में बड़ी संख्या में व्यावसायिक पायलटों ने विमान उड़ाने के अपने अनुभव के बारे में झूठी जानकारी दी है जिसके बाद सरकार ने पायलटों की योग्यता की जाँच शुरू कर दी है.

लगभग 200 पायलटों ने नौकरी पाने के लिए ख़ुद को जितना अनुभवी बताया था उनका असली अनुभव उससे काफ़ी कम है.

जिन पायलटों ने इस तरह की झूठी जानकारी दी है उनमें से लगभग सौ पायलटों ने शेनझेन एयरलाइन के लिए काम किया है.

इसी कंपनी का एक विमान पिछले महीने दुर्घटनाग्रस्त हो गया था जिसमें 42 लोगों की मौत हुई थी.

चीन का विमानन उद्योग दुनिया में सबसे अधिक तेज़ी से बढ़ रहा है और पायलटों की माँग भी बढ़ रही है.

जिन 200 पायलटों ने अपने अनुभवों को बढ़ा चढ़ाकर बताया है उनमें से कई सैनिक विमानों के पायलट थे जिन्हें नागरिक विमानों को उड़ाने का पर्याप्त अनुभव नहीं था.

इन पायलटों को अब विमान उड़ाने से रोक दिया गया है और उनकी योग्यता का नए सिरे से परीक्षण हो रहा है.

चीनी नागरिक विमानन विभाग का कहना है कि अभी पक्का नहीं है कि इस तरह की झूठी जानकारी देने वाले और पायलट हैं या नहीं.

चीनी सरकार ने अब कहा है कि पायलटों ही नहीं बल्कि मरम्मत करने वाले इंजीनियरों और ट्रैफ़िक कंट्रोलरों की दक्षता की भी पूरी जाँच की जाएगी.

वर्ष 2006 में चीन में ग्यारह हज़ार व्यावसायिक पायलट थे, उसके बाद से उनकी लगातार उनकी संख्या में वृद्धि हो रही है.

संबंधित समाचार