गेम-प्रेम पर बैन

  • 7 सितंबर 2010
वीडियो गेम
Image caption युवाओं को बंदूक और कार रेसिंग जैसे गेम सबसे ज़्यादा पसंद आते हैं.

हाल ही में वियतनाम में इंटरनेट पर गेम्स के विज्ञापनों पर रोक लगा दी गई है. सरकार कहती है कि युवा, ख़ासकर बच्चे इन गेम्स के इस क़दर आदी हो रहे हैं कि ये एक बड़ी समस्या बन चुकी है.

बीबीसी संवाददाता रेचल हार्वी का कहना है कि अगर गेमिंग के अड्डों पर निगाह मारी जाए तो ये टूटी-फूटी खिड़कियों वाले, अंधेरे में घिरे हुए होते हैं जहां अक्सर कंप्यूटर स्क्रीन के सामने बैठे युवा नज़र आ जाएंगे.

उनका कहना है कि बाहर से गुज़रने वालों को अंदर के शोर से ही समझ आ सकता है कि आख़िर अंदर हो क्या रहा है.

ऑनलाइन गेम में इन सबकी पसंद के खेल या तो बंदूक से किसी की जान लेने वाले हैं या फिर तेज़ रफ़्तार गाड़ियों की रेस करवाने वाले.

अपराध से संबंध

वियतनाम की सरकार ने अब सार्वजनिक तौर पर कह दिया है कि युवाओं में ऑनलाइन गेमिंग की लत एक बड़ी समस्या बन चुकी है. उसका ये भी कहना है कि बढ़ते बाल अपराध में गेमिंग की इस ख़राब लत का कहीं न कहीं लेना-देना ज़रूर है.

इतना ही नहीं, बच्चे इस लत की वजह से अपने स्कूल न जाकर गेम्स खेल रहे हैं तो कुछ उधार के बोझ के तले दब चुके हैं.

वियतनाम पहले ही इंटरनेट के इस्तेमाल पर कई तरह की पाबंदियां लगा चुका है. लेकिन इस बार पाबंदी सीधा ऑनलाइन गेम पर ही लगाई जा रही है.

वियतनाम सरकार की प्रवक्ता नियेन फ़ूंग ने कहा, "जिसकी शुरुआत एक पागलपन से हुई थी बहुत से लोगों में वो ख़तरनाक आदत का रूप ले चुकी है."

लाइसेंस नहीं

सरकार ने अब कहा है कि किसी भी नए ऑनलाइन गेम को शुरु करने के लिए ज़रूरी लाइसेंस नहीं दिए जाएंगे.

रात में 11 बजे के बाद कैफ़े में इंटरनेट का इस्तेमाल रोक दिया जाएगा. इंटरनेट पर गेम के सभी विज्ञापनों पर प्रतिबंध लगेगा.

लेकिन अभी तक ये साफ़ नहीं हुआ है कि सरकार उनके लिए क्या नीति ला रही है जो पहले से ही गेम खेलने की लत में डूबे हुए हैं.

गेम खेले जाने वाली जगहों पर इन खेलों के आदी हो चुके युवा जिस तरह कंप्यूटर स्क्रीन पर आंख गड़ाए बैठे रहते हैं उसे देखकर लगता है कि इस लत को छुड़ा पाना बेहद मुश्किल है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार