ऑस्ट्रेलिया में इस्लामिक केंद्र का विरोध

ऑस्ट्रेलिया
Image caption ऑस्ट्रेलिया में सिर्फ़ दो प्रतिशत लोग मुसलमान हैं

ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड के गोल्ड कोस्ट के निवासियों ने वहाँ एक इस्लामिक केंद्र बनाए जाने का विरोध किया है.

तेज़ी से फैल रहे इस शहर में मुस्लिम समुदाय के लोग एक इस्लामिक केंद्र बनाना चाह रहे हैं, लेकिन वहाँ के निवासियों ने इस केंद्र का विरोध करने के लिए एक समूह बनाया है.

इस समूह का कहना है कि इस परियोजना से इलाक़े की सुरक्षा पर प्रभाव पड़ेगा और असमाजिक तत्वों को बढ़ावा मिलेगा.

वहीं मुस्लिम समुदाय का कहना है कि वे इस तरह की प्रतिक्रया से निराश हुए हैं.

मुस्लिम नेताओं का कहना है कि क्वींसलैंड में बढ़ रही मुसलमानों की जनसंख्या को देखते हुए वहाँ और पूजा-स्थलों की ज़रूरत है. उन्होंने गोल्ड कोस्ट के एक उप नगर में स्थित एक घर को इस्लामिक केंद्र में बदलने के लिए आवेदन किया है.

असाधारण प्रतिक्रिया

हालांकि इस शहर के कई निवासी इस योजना को लेकर ख़ुश नहीं है. उनका कहना है कि इससे सड़कों पर इससे ट्रैफ़िक बढ़ जाएगा.

इस मामले में इंटरनेट पर मुस्लिम विरोधी प्रतिक्रियाएँ भी देखने को मिली है और इस्लामिक केंद्र के लिए लगाए गए चिह्नों पर नस्लभेदी टिप्पणियाँ उकेरी गई है.

गोल्ड कोस्ट स्थित इस्लामिक सोसायटी के अध्यक्ष हसन गॉस ने बीबीसी से बातचीत करते हुए इस तरह की प्रतिक्रिया को 'असाधारण' बताया है.

उनका कहना है कि महज छोटा सा इस्लामिक केंद्र बनाने की योजना है.

गोल्ड कोस्ट के निवासी इस महीने के अंत तक अपना विरोध स्थानीय प्रशासन के पास दर्ज करवा सकते हैं. केंद्र बनाने की मंजूरी की प्रक्रिया में क़रीब साल भर का समय लग सकता है.

ऑस्ट्रेलिया में मुसलमान कुल आबादी का महज दो प्रतिशत हैं.

संबंधित समाचार