फ़िजी में महेंद्र चौधरी गिरफ़्तार

  • 3 अक्तूबर 2010
महेंद्र चौधरी

फ़िजी के पूर्व प्रधानमंत्री महेंद्र चौधरी को सैन्य शासन के नियमों को कथित रूप से तोड़ने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया गया है.

भारतीय मूल के महेंद्र चौधरी विपक्षी लेबर पार्टी के नेता हैं.

उनके अलावा पाँच अन्य लोगों को सार्वजनिक सभा आयोजित करने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया. इमरजेंसी के नियमों में सभाएँ करना अपराध है.

महेंद्र चौधरी सोमवार को अदालत में पेश किए जाएगा.

दस वर्ष पहले उनका तख़्ता पलट दिया गया था.

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ वर्षों में फ़िजी में राजनीतिक अस्थिरता का माहौल रहा है और मई 2000 में स्थानीय बंदूकधारियों ने तख़्तापलट कर दिया था.

भारतीय मूल के महेंद्र चौधरी वर्ष 1999 में फ़िजी के प्रधानमंत्री बने थे लेकिन साल भर के भीतर ही बंदूक की नोंक पर उन्हें अपदस्थ कर दिया गया था.

महेंद्र चौधरी के बीच जो तनाव है उससे फ़िजी मूल के लोगों और भारतीय मूल के लोगों के बीच संदेह के वातावरण के रूप में देखा जा सकता है.

फ़िजी में दो प्रमुख राजनीतिक दल हैं एक है फ़िजी मूल के लोगों की सत्ताधारी पार्टी एसडीएल और दूसरी भारतीय मूल के लोगों की फ़िजी लेबर पार्टी (एफ़एलपी).

फ़िजी में लगभग 44 प्रतिशत भारतीय हैं लेकिन वोट बँटे हुए हैं और सारे वोट आमतौर पर महेंद्र चौधरी को नहीं मिलते हैं.

संबंधित समाचार