फ़ैसल को आजीवन कारावास की सज़ा

फ़ैसल
Image caption फ़ैसल ने अपना जुर्म स्वीकार किया था और चेतावनी दी थी कि ऐसे और हमले हो सकते हैं.

अमरीका की एक अदालत ने न्यूयॉर्क स्थित टाइम्स स्क्वायर पर धमाके कि साज़िश रचने वाले फ़ैसल शहज़ाद को आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई है.

फ़ैसला सुनाए जाने के बाद फ़ैसल ने कहा कि अमरीका के ख़िलाफ़ मुस्लिम देशों की लड़ाई की शुरुआत हो चुकी है.

उन्होंने कहा कि पिछले साल अमरीकी नागरिकता की शपथ लेते वक्त भी उनके मन ने इस शपथ को स्वीकार नहीं किया था.

पाकिस्तान में जन्मे फ़ैसल अमरीका के नागरिक हैं और उन्होंने टाइम्स स्क्वायरपर एक कार-बम धमाका करने की विफल कोशिश की थी.

मामले पर सुनवाई के तहत जून 2010 में उन्हें व्यापक तबाही मचाने वाले हथियारों के उपयोग की कोशिश और चरमपंथ सहित दस आरोपों का दोषी पाया गया था.

चेतावनी

टाइम्स स्क्वायरपर्यटकों के बीच आकर्षण का केंद्र रहता है और फ़ैसल ने बारूद से भरी एक कार इस जगह पर खड़ी की थी.

हालांकि यह विस्फोट नहीं हुआ और दो दिन बाद अमरीका से फ़रार होने की कोशिश के दौरान फै़सल को गिरफ़तार कर लिया गया था.

फै़सल पेशे से वित्तीय सलाहाकार हैं और उन्होंने ये स्वीकार किया था कि उन्हें तालीबान की मदद से पाकिस्तान में चलाए जा रहे एक शिविर में प्रशिक्षण मिला था.

पाकिस्तान ने भी 26 जुलाई 2010 को माना था कि फ़ैसल शहज़ाद पाकिस्तान के तालिबान कमांडर और कई अन्य लोगों से मिले थे.

सितंबर महीने में पाकिस्तान की पुलिस ने न्यूयॉर्क के टाइम्स स्क्वैयर में बम विस्फोट करने की नाकाम कोशिश के सिलसिले में इस्लामाबाद से फै़सल के तीन साथियों को भी गिरफ़्तार किया था.

जून में फ़ैसल शहज़ाद ने न्यूयॉर्क की एक अदालत के समक्ष अपना जुर्म स्वीकार किया था और चेतावनी दी थी कि ऐसे और हमले हो सकते हैं.

संबंधित समाचार