बुधवार को ख़त्म होगा इंतज़ार

चिली में खनिकों को बाहर निकालने का काम जारी
Image caption इंजीनियर भूमिगत चैंबर को तोड़कर खनिकों तक पहुंचे.

चिली के खदान मंत्री ने कहा है लंबे समय से खदान में फंसे 33 खनिकों को बाहर निकालने का काम बुधवार तक शुरु हो जाएगा.

इससे पहले खनिकों को बाहर निकालने में जुटे इंजीनियर भूमिगत चैंबर को तोड़कर खनिकों तक पहुंच चुके हैं.

इंजीनियरों को मिली इस बड़ी सफलता की खुशी में खनिकों के परिवार वालों ने खुशियां मनाते हुए एक दूसरे को गले लगाया.

इस मौके पर खदान मंत्री लॉरेंस गोलबोर्न ने कहा कि खनिकों को निकालने से पहले उन तक पहुंचने के लिए बनाए गए छेद पर स्टील का एक ढांचा तैयार किया जाना है. इसे बनाने में दो से तीन दिन का समय लगेगा.

खनिक गत पाँच अगस्त से खदान के धसकने के बाद से ज़मीन से 700 मीटर नीचे फँसे हुए हैं. खनिकों को खदान में फंसे हुए 66 दिन हो चुके हैं.

सावधानी

गोलबोर्न ने चेतावनी दी है कि बचाव दल को सावधानी से काम करना होगा जिससे कि ड्रिल जाम न हो.

उन्होंने कहा, "हम सावधानी के लिए पहले कैमरा नीचे उतारेंगे जिससे कि यह सुनिश्चित हो सके कि उनमें से किसी को ख़तरा नहीं है."

कहा जा रहा है कि सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए खनिकों को हर घंटे एक-एक कर बाहर निकाला जाएगा.

सबसे पहले उन खनिकों को निकाला जाएगा जो स्वस्थ हैं. इसके बाद उन खनिकों की बारी होगी जो लंबे समय से खदान में फंसे होने के कारण कमज़ोर हो गए हैं, और इसके बाद सबसे मज़बूत दल को बाहर निकाला जाएगा.

खनिकों को बाहर निकालने से पहले एक चिकित्सक खदान में उतरकर उनकी जांच करेगा.

बाहर निकलने पर खनिकों को धूप के चश्मों की तरह गहरे रंग के काँच वाले चश्मे भी दिए जाएँगे क्योंकि वे लंबे समय से अंधेरे में रह रहे हैं और बाहर की रोशनी अचानक बर्दाश्त नहीं कर सकेंगे.

संभावना है कि दुनिया भर के सैकड़ों पत्रकार इस अवसर पर वहाँ मौजूद होंगे.

संबंधित समाचार