पुलिस रही चुस्त तो अपराधी रहे दुरुस्त

सुरक्षाकर्मी

दिल्ली पुलिस के आयुक्त वाई एस डडवाल का कहना है कि राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान किसी आतंकी हमले की कोई विशेष सूचना नहीं थी लेकिन दिल्ली पुलिस किसी भी स्थिति का सामने करने के लिए तैयार थी.

डडवाल का कहना है कि खेलों की सुरक्षा के लिए किए गए बंदोबस्त की वजह से दिल्ली में उन दिनों अपराध का ग्राफ़ काफी नीचे रहा.

डडवाल ने कहा कि इस दौरान गंभीर किस्म के अपराध में 46 फ़ीसदी से भी ज़्यादा की कमी आई है.

पुलिस आयुक्त ने राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान सुरक्षा व्यवस्था चुस्त दुरुस्त रखने के लिए सुरक्षा बलों और बेहतरीन सहयोग के लिए दिल्ली वासियों की तारीफ़ की है.

बेहतर परिणाम

बीबीसी के साथ एक ख़ास बातचीत में उन्होंने कहा कि राष्ट्रमंडल खेलों को निर्विघ्न संपन्न कराने के लिए मुख्य रूप से सुरक्षा बलों की ज़्यादा तादाद, उनका बेहतर प्रशिक्षण और उनकी मेहनत ज़िम्मेदार है.

उन्होंने बताया कि जवानों को न सिर्फ़ औपचारिक प्रशिक्षण दिया गया बल्कि उन्हें लोगों के साथ कैसा व्यवहार करना है ये भी बताया गया और इसके बेहतर परिणाम मिले.

ब्लू लेन यानी खेल से जुड़े वाहनों के आवागमन के लिए अलग लेन से लोगों को हुई परेशानी के बारे में उनका कहना था कि वैसे तो कोई बहुत परेशानी नहीं हुई लेकिन क़ानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए ये ज़रूरी था.

संबंधित समाचार