बैचलर जिराफ़ को मिली गर्लफ्रेंड

giraffe
Image caption चार साल बाद बन पाई जोड़ी

युवाओं से अक्सर ये कहानी सुनने को मिलती है कि उन्हें अपनी गर्लफ़्रेंड को पाने के लिए बड़े-बड़े पापड़ बेलने पड़े थे. लेकिन अगर यह बात किसी जिराफ़ के मामले में भी सच हो तो !

इंगलैंड के ब्रिस्टल में एक जिराफ़ के साथ कम से कम ऐसा ही एक मामला सामने आय़ा है.

नर जिराफ़ जेराल्ड को चार साल तक दुनिया भर में बड़ी खोजबीन के बाद आखिरकार उसके लिए गर्लफ्रेंड मिल ही गई.

मादा जिराफ़ जिनेविव को जेराल्ड से मिलवाने के लिए 1,000 मील दूर पूर्वी यूरोप से इंगलैंड के रैक्सल स्थित आर्क चिड़ियाघर में लाया गया है.

जेराल्ड की लंबाई 15 फीट है और उम्र सात साल है. वह इस चिड़ियाघर में 2006 से रह रहा है. तभी से चिड़ियाघर के कर्मचारी उसके लिए मनपसंद गर्लफ्रेंड की तलाश में थे.

चिड़ियाघर में वरिष्ठ कर्मचारी क्रिस विलकिंसन ने बताया कि जिनेविव काफ़ी योग्य है और जेराल्ड काफ़ी भाग्यशाली.

असामान्य संबंध

प्यार का मारा जिराफ़ कुछ समय पहले एक असामान्य संबंध बनाने की ओर क़दम बढ़ाने लगा था. ईडी नामक बकरी से इसकी भावनाएं काफ़ी अधिक जुड़ चुकी थीं.

वैसे, अब जेराल्ड को अपनी प्रेम भावनाएं जताने के लिए गर्दन ज़्यादा झुकानी नहीं पड़ेगी क्योंकि जिनेविव की लंबाई (12 फीट) उससे कुछ ही कम है.

क्रिस विलकिंसन ने कहा, "हम चार साल से इस जिराफ़ के लिए योग्य मादा जिराफ़ की तलाश में थे और इस तलाश में हमें कई दिक्कतें भी आईं."

पशुओं में ब्लूटंग और फुट ऐंड माउथ बीमारी पैदा होने के बाद नर जिराफ़ के लिए जोड़े की तलाश की शुरुआती कोशिशें बेकार साबित हुईं.

चिड़ियाघर के कर्मचारी अब दोनों ही जिराफ़ों पर नजदीकी से निगाह रखेंगे.

हालांकि जिनेविव को नए माहौल में तालमेल बिठाने के लिए अभी कुछ वक़्त लग सकता है.

संबंधित समाचार