ब्रिटेन रक्षा बजट में कटौती का असर

Image caption रक्षा मंत्री लियम फ़ॉक्स ने इस बात से इनकार किया है कि ब्रिटेन की वायु सैन्य क्षमता में कोई कमी आएगी

ब्रिटेन के रक्षा मंत्री लियम फ़ॉक्स ने स्वीकार किया है कि रक्षा बजट में कटौती के बावजूद दो नए जलपोतों को तैयार किया जाएगा, भले ही उन पर कटौती के कारण कुछ समय के लिए विमानों की तैनाती न हो पाए.

ब्रितानी सरकार इस सप्ताह खर्च में कटौती की घोषणा करने वाली है, साथ ही वो नई रक्षा नीति की घोषणा करने जा रही है.

रक्षा मंत्री लियम फ़ॉक्स ने कहा कि नए लड़ाकू विमानों के तैयार होने से पहले ही मौजूदा लड़ाकू विमानों को धीरे धीरे हटा दिया जाएगा.

हालांकि उन्होंने इस बात से इनकार किया कि इससे ब्रिटेन की वायु क्षमता में कोई कमी आएगी.

ऐसी ख़बरें हैं कि बदलाव की इस प्रक्रिया में कुछ वर्षों का अंतर रहेगा.

इसके पहले ब्रिटेन के वित्त मंत्री जॉर्ज ओसबोर्न ने कहा था कि युद्धपोत परियोजना को रद्द करना, इसे जारी रखने से महंगा पड़ेगा.

अमरीका की चिंता

हालांकि शुक्रवार को अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने ब्रिटेन के रक्षा बजट में कटौती पर चिंता जताई थी.

उल्लेखनीय है कि इसके पहले ब्रिटेन सरकार ने सभी सरकारी विभागों से कहा था कि वो 40 प्रतिशत कटौती करने के लिए व्यापक योजना बनाएं.

सरकार ने इस कटौती से केवल रक्षा और शिक्षा विभाग को थोड़ी रियायत दी थी.

शिक्षा विभाग को 10 प्रतिशत और रक्षा विभाग को 20 प्रतिशत कटौती की योजना पेश करनी है.

ब्रितानी सरकार का कहना है कि ब्रिटेन के बजट का वार्षिक घाटा 156 अरब डॉलर का है और इसे कम करने के लिए ये कटौतियाँ अनिवार्य हैं.

संबंधित समाचार