मलेशियाई भारतीयों की गुहार

मनमोहन सिंह
Image caption मलेशिया में भारतीयों की एक पार्टी मनमोहन सिंह से काफ़ी उम्मीद रखती है.

मंगलवार को जापान के बाद मलेशिया के दौरे पर पहुंचने वाले भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से 'इंडिपेंडेंट ह्यूमन राइट्स पार्टी' ने देश में भारतीय अल्पसंख्यकों का मुद्दा उठाने की गुहार की है.

मलेशिया उन मुल्क़ों में से एक है जहां भारत से बाहर रहने वाले भारतीयों की एक बड़ी आबादी रहती है. मलेशिया की कुल आबादी में आठ फ़ीसदी हिस्सेदारी भारतीयों की है. लेकिन मलेशिया में रहने वाले भारतीय अपने आप को उस देश में अधिकारहीन समझते हैं.

ह्यूमन राइट्स पार्टी चाहती है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह उनके ज़ज़्बातों को मलेशिया के नेतृत्व के सामने रखे.

शिक्षा का उदाहरण देते हुए पार्टी कहती है कि मलेशिया में भारतीयों के मूल अधिकारों का उल्लंघन होता रहा है.

बीबीसी संवाददाता जेनिफ़र पाक को पार्टी ने बताया कि हर वर्ष दो हज़ार भारतीय छात्र उच्च ग्रेड के साथ पास होते हैं लेकिन इनमें से किसी को भी ना तो छात्रवृत्ति मिलती है और ना हीं सरकारी विश्वविद्यालयों में दाख़िला.

पार्टी चाहती है कि मलेशिया में रह रहे भारतीयों को पढ़ाई के लिए भारत छात्रवृत्ति दे.

मलेशिया ने मेरिट पर आधारित शिक्षा और आर्थिक व्यवस्था लाने के लिए कई क़दमों की घोषणा की है लेकिन 'इंडिपेंडेंट ह्यूमन राइट्स पार्टी' इन्हें नाकाफ़ी मानती है.

संबंधित समाचार